January 21, 2018
सिद्धार्थ नगर

वाह रे राजनीति: अब सिद्धार्थनगर में विद्यालय भी रंगने लगे भगवा रंग

सिद्धार्थनगर: प्रदेश में बीजेपी की सरकार बनने और योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद से ही भगवा रंग का असर दिखना शुरू हुआ।

पहले लखनऊ में सरकारी ऑफिसो को भगवा रंग में रगा गया।फिर परिवहन की बसो को भगवा रंग देकर सड़को पर उतारने का काम किया गया है।

भगवा रंग का क्रेज यही खत्म नहीं होता दिख रहा है। जैसे जैसे समय बीतता जा रहा है भगवा रंग का क्रेज बढ़ता जा रहा है। अब सिद्धार्थनगर जिले के प्राथमिक विद्यालय भी भगवा रंग में दिखने लगे है।

जिले के भनवापुर विकास खण्ड के प्राथमिक विद्यालय मगराव को पूरी तरह से भगवा रंग में रंगा गया है। इस विद्यालय को देख ये कहना गलत न होगा कि लोगो को शिक्षित करने वाले भी राजनीति की तरफ बढ़ते दिख रहे है। इस विद्यालय के अध्यापक प्रदीप कुमार साफ तौर पर कह रहे है कि ये राजनीति नहीं है ये कलर अच्छा लगा तो इसी कलर में रंगवा दिया विद्यालय।

इस तरह से जिले के प्राथमिक विद्यालय को रगने के पीछे सपा नेता पूर्व विधानसभाध्यक्ष माता प्रसाद पांडेय सम्प्रदायिकता को बढ़ावा देने वाला कदम बताते नजर आ रहे है।

पूर्व विधानसभाध्यक्ष ने अल्पसंख्यक समुदाय के लोगो में भय पैदा करने की साजिस बता रहे भगवा रंग में रंगे इस विद्यालय को।भगवा रंग की राजनीति जिले के साथ साथ प्रदेश में होती दिखने लगी है।

बताते चले कि अभी तक प्राथमिक विद्यालयो को सफेद रंग से रंगा जाता रहा है। वहीँ जब जिले में शिक्षा विभाग के जिम्मेदार अधिकारी बेसिक शिक्षा अधिकारी से प्राथमिक विद्यालय के भगवा रंग में रगने की बावत बात की गयी तो उनका साफ तौर पर कहना था कि विद्यालयो को रंगने के लिए कोई निर्धारित रंग का निर्देश नहीं है।जो अच्छा लगा उसी कलर में विद्यालयो को रंगा जाता है।

बेसिक शिक्षा अधिकारी मनीराम सिंह के अनुसार ये विद्यालय डुमरियागंज के स्थानीय विधायक राघवेन्द्र प्रताप सिह का गोद लिया विद्यालय है इसकी पूरी व्यवस्था वो ही तय करते है। उन्होंने और प्रबंध समिति ने जो रंग चुना होगा उसी रंग में विद्यालय को रंगा गया है।यह विद्यालय जिले का मॉडल विद्यालय है।

देखना होगा अब जब बीजेपी विधायक का गोद लिया यह विद्यालय भगवा रंग में रंगा गया है तो आने वाले दिनों में क्या जिले के और विद्यालयो को भी भगवा रंग में रंगवाने का काम जिले के शिक्षा विभाग के जिम्मेदार करेगे।

Related Posts

वाह रे राजनीति: अब सिद्धार्थनगर में विद्यालय भी रंगने लगे भगवा रंग