April 17, 2018
टॉप न्यूज़

वर्ष 2017: सीएम के प्रयासों से उड्डयन क्षेत्र में मिली गोरखपुर एयरपोर्ट को अप्रत्याशित सफलता

सीएम के प्रयासों से गोरखपुर एयरपोर्ट को अप्रत्याशित सफलता

गोरखपुर: पूर्वांचल के प्रमुख शहर व प्रदेश के मुख्यमंत्री की कर्मभूमि गोरखपुर में हवाई सेवाओं के लिए वर्ष 2017 शानदार रहा। कभी पूर्व मुख्यमंत्री व विकास पुरुष का दर्जा पाए स्व.वीर बहादुर सिंह द्वारा शुरू करवाई गई उड़ान को इस वर्ष नया मुकाम मिला।

बता दें कि पूर्व में गोरखपुर से ही ताल्लुक रखने वाले पूर्व मुख्यमंत्री स्व. वीर बहादुर सिंह ने इस क्षेत्र का पिछड़ापन दूर करने के लिए तमाम परियोजनाओं के साथ ही यहाँ एयरफोर्स के रनवे से इंडियन एयर लाइन्स की दिल्ली की उड़ान शुरू करवाई थी। जो वर्ष 1990 में बंद हो गयी। फिर वर्ष 2000 में यहां के सांसद योगी आदित्यनाथ के प्रयासों से सहारा एयर लाइन्स ने अपनी सेवाएं देनी शुरू की। बाद के दिनों में यहाँ एयर इंडिया ने अपनी साप्ताहिक सेवाएं देनी शुरू की।

वर्ष 2014 में केंद्र में भाजपा की सरकार गठित होते ही यहां के उड्डयन केंद्र पर सरकार ने ध्यान दिया और आवश्यकता को देखते हुए नया टर्मिनल बनाये जाने की घोषणा की। जिसके अनुपालन में एयरपोर्ट पर लगभग 22.34 करोड़ रुपए की लागत से बने न्यू टर्मिनल बिल्डिंग का लोकार्पण जून 2017 में मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने किया। इस बिल्डिंग में 100 यात्रियों के रुकने की व्यवस्था है।

इस एयरपोर्ट को आधुनिक टर्मिनल भवन के साथ ही हवाई सेवा की सौगात मिली। दिल्ली, कोलकाता के लिए नई फ्लाइट शुरू होने से यात्रियों की संख्या पांच गुना बढ़ गई। आंकड़ो के मुताबिक वर्ष 2014 -15 में 25 हजार यात्रियों ने यहां से हवाई यात्रा की।जो सुविधाएं मिलते ही बढ़कर वर्ष 2016-17 में यह संख्या 1.25 लाख तक पहुंच गई। अब यहां से यात्रियों का हवाई सेवा के प्रति बढ़े रुझान देखकर एयर इंडिया और स्पाइस जेट ने भी उड़ान शुरू की है,जबकि कई अन्य हवाई सेवा देने वाली कम्पनियों ने अपने प्रस्ताव उड्डयन मंत्रालय मे लगा रखे हैं।

सम्भावनाएं बन रही है कि इस वर्ष यहां से मुंबई, काठमांडू, वाराणसी, लखनऊ समेत देश के अन्य राज्यों व सिंगापुर और मिडिल ईस्ट के लिए उड़ान की योजना क्रियान्वित हो जाएगी।जिससे इन उड़ानों से पूर्वांचल के इस क्षेत्र में उद्योग-धंधों के विकास को गति मिलेगी।अब यात्रियों की बढ़ी संख्या देखते हुए न्यू टर्मिनल फेज टू का निर्माण भी शुरू हो रहा है।जिसमें इस साल के अंत तक आइएलएस (इंस्टूमेंट्स लैंडिंग सिस्टम) के साथ अन्य आधुनिक सुविधाओं के चालू होने की उम्मीद है।

इस सम्बंध में (गुरु गोरक्षनाथ टर्मिनस) गोरखपुर एयरपोर्ट के निदेशक बीएस मीणा का कहना है कि वर्ष 2017 गोरखपुर एयरपोर्ट के लिए शानदार रहा। यात्रियों की संख्या में पांच गुना वृद्धि होने के साथ ही कोलकाता व दिल्ली के लिए उड़ान शुरू हुई। नए साल में विस्तारा, इंडिगो व एयर उड़ीसा की भी सेवा शुरू होने की उम्मीद है।

Related Posts

वर्ष 2017: सीएम के प्रयासों से उड्डयन क्षेत्र में मिली गोरखपुर एयरपोर्ट को अप्रत्याशित सफलता