April 19, 2018
टॉप न्यूज़

गोरखपुर महोत्सव के लिए 33 लाख रुपये शासन ने किया स्वीकृत

गोरखपुर महोत्सव के लिए 33 लाख रुपये

गोरखपुर: डीडीयू यूनिवर्सिटी, गोरखपुर कैम्पस में 11 से 13 जनवरी तक आयोजित होने वाले गोरखपुर महोत्सव के लिए शासन ने 33 लाख रुपये स्वीकृत किए हैं। महोत्सव के लिए कमेटी की तरफ से प्रस्ताव बनाकर संस्कृति निदेशालय को भेजा गया था। निदेशालय के प्रस्ताव पर शासन ने बुधवार को फंड स्वीकृत कर दिया।

प्रदेश शासन के उपसचिव लुटावन राम ने संस्कृति निदेशालय के निदेशक को इसकी जानकारी भी दे दी है। शर्तों के मुताबिक महोत्सव के मद का धन निकालने के बाद उसे बैंक या पोस्ट आफिस में नहीं जमा किया जाएगा और सभी खर्चों का बिल बाउचर्स शासन को उपलब्ध कराना होगा।उधर महोत्सव को लेकर तैयारियां अब अंतिम चरण में हैं।

गोरखपुर यूनिवर्सिटी के मैदान में पंडाल आदि लगाने का काम जोरों पर चल रहा है। महोत्सव का लोगो, थीम आदि जारी होने के साथ ही बॉलीवुड नाइट के लिए शान, ललित पंडित, अनुराधा पौडवाल समेत संबंधित कलाकारों ने अपनी रजामंदी भी दे दी है। विभिन्न प्रतियोगिताओं के लिए ऑडिशन की प्रक्रिया भी इसी सप्ताह पूरी कर ली जाएगी।

गोरखपुर महोत्सव के दौरान उप्र स्टेट राइफल एसोसिएशन लखनऊ के सहयोग से शूटिंग प्रतियोगिता का भी आयोजन किया जाएगा। 11 से 13 जनवरी तक गोरखपुर यूनिवर्सिटी कैंपस में महोत्सव का आयोजन होगा। महोत्सव के ही तहत तीनों ही दिन आरपीएफ के रजही कैंप में शूटिंग प्रतियोगिता भी होगी। सिटी मजिस्ट्रेट विवेक श्रीवास्तव के अनुसार लाइसेंस प्राप्त कोई भी प्रतिभागी इस प्रतियोगिता में शामिल हो सकेगा।

जिले स्तर पर होने वाली निशानेबाजी प्रतियोगिता में 22,177 बोर एयर रायफल, 32,22 बोर पिस्टल रिवाल्वर तथा 12 बोर शाट गन के इच्छुक प्रतिभागी आयोजन स्थल पर अपना प्रवेश लेकर शामिल हो सकेंगे। शूटिंग प्रतियोगिता में भाग लेने वाले प्रतिभागियों से प्रवेश शुल्क के रूप में एयर गन पर 200 रुपये, रायफल और अन्य पर 300 रुपये निर्धारित किए गए हैं।

प्रवेश फ़ार्म गोलघर के राजेश गन हाउस, गणेश गन हाउस, रायल गन हाउस,ईस्टर्न आर्म्स कार्पोरेशन,जलकल बिल्डिंग, काजी अमिनुल्लाह एंड संस बक्शीपुर, रवि आर्म्स कार्पोरेशन टाउनहाल, एमआर एंड संस इस्माइलपुर तथा कलेक्ट्रेट स्थित शस्त्र अनुभाग से निर्धारित शुल्क जाम कर प्राप्त किया जा सकता है।

Related Posts

गोरखपुर महोत्सव के लिए 33 लाख रुपये शासन ने किया स्वीकृत