April 18, 2018
टॉप न्यूज़

ट्रैफिक व्यवस्था सुधारने की कयावद पहले चरण में लड़खड़ाई, पब्लिक की लापरवाही से फस रहा है पेंच

गोरखपुर: सीएम सिटी में ट्रैफिक व्यवस्था सुधारने के लिए चल रही पहल पहले ही चरण में लड़खड़ा गयी है। इसका कारण महानगर के चौराहों पर ट्रैफिक के सिग्नल लाइट्स के महज 30 सेकेंड के ट्रायल से सड़के ठसाठस हो गयी हैं। जिसके चलते स्लो स्पीड से चल रही गाड़ियों से महज 30 सेकेण्ड में ही हर तरफ जाम लग जा रहा है।

इससे निपटने के लिए नए तरीके की व्यवस्था सुधारने के लिए अब ट्रैफिक पुलिस के अधिकारी फिर से उपाय खोजने में जुट गए है। हालांकि आटोमेटिक लाइट शुरू होने पर पुलिस के समय की बचत होगी, जिसका उपयोग दूसरी जगह भी किया जा सकेगा ।

Gorakhpur police

Gorakhpur police

गौरतलब है कि सीएम सिटी गोरखपुर में यातायात व्यवस्था दुरुस्त करने के लिए ट्रैफिक पुलिस द्वारा नए नए प्रयोग किये जा रहे है। चौराहों के चौैड़ीकरण के बाद ट्रैफिक सिग्नल लाइट भी लगाई जा रही है। अलग अलग चौराहों पर लाइट से ट्रैफिक सुधारने के लिए एसपी ट्रैफिक दो दिनों से ट्रायल ले रहे है, लेकिन इसमें पब्लिक की लापरवाही का पेंच फस जा रहा है। गाड़ियों के स्लो स्पीड होने के कारण लोग जल्दी जल्दी चौराहों को पार नहीं कर पा रहे है, तो दूसरी ओर लाइट पर भी कोई ध्यान नहीं दे पा रहा है।

ट्रायल के दौरान कई जगहों पर लंबा जाम लग गया। जिसे देखते हुए फिर जनरली ट्रैफिक कंट्रोल कर के आवागमन सुनिश्चित कराया गया । ट्रैफिक व्यवस्था सुधारने में जो समस्या आ रही है, उसमें चौराहों पर लगे ट्रैफिक सिग्नल की पब्लिक अनदेखी कर रही है। जिससे कारण दुर्घटना की संभावना बनी रहती है। इसके अलावा वाहनों के अलग-अलग चलने के लिए लेन की व्यवस्था नहीं होना, सिग्नल खुलने के बाद भी सवारियो का भरा जाना, एक ही लेन में रिक्शा, ठेला, कार, टेम्पो चलने से लंबी लाइन लग जाती है।

gorakhpur traffic signal

gorakhpur traffic signal

इस संबंध में एसपी ट्रैफिक आदित्य प्रकाश वर्मा का कहना है कि शहर की ट्रैफिक व्यवस्था सुधारने का प्रयास चल रहा है ट्रैफिक सिग्नल लाइट का समय सेट करके ट्रायल किया जा रहा है। चौराहों पर किस कारण से जाम लग जा रहा है ,इसकी पड़ताल की जा रही है। अगर पब्लिक का सहयोग मिला तो जल्द ही ट्रैफिक व्यस्था में सुधार नजर आएगा। यातायात विभाग जाम की समस्या से निपटने के लिए पूरी तरफ से प्रयासरत है और जल्द ही सफलता मिलने के भी आसार है।

Related Posts

ट्रैफिक व्यवस्था सुधारने की कयावद पहले चरण में लड़खड़ाई, पब्लिक की लापरवाही से फस रहा है पेंच