April 18, 2018
टॉप न्यूज़

पूरे हर्षोल्लास से गोरखपुर में मनाया यूपी स्थापना दिवस, प्रदर्शनी में दिखी विकास की झलक

गोरखपुर में मनाया यूपी स्थापना दिवस

गोरखपुर: जनपद के पंडित दीन दयाल उपाध्याय विश्वविद्यालय के दीक्षा भवन में आज उत्तर प्रदेश स्थापना दिवस धूम धाम से मनाया गया। जिसमें प्रदेश की गौरवशाली गाथा का वर्णन किया गया। छात्र छात्राओं ने भी संगीत प्रस्तुत किया तथा विकास विभागों द्वारा प्रदर्शनी लगाई गयी। बता दें कि आज पूरे प्रदेश में यूपी स्थापना दिवस मनाया जा रहा है। प्रारम्भ में महापौर सीता राम जायसवाल, विधायक डा राधामोहन दास अग्रवाल, जनार्दन तिवारी, सीडीओ अनुज सिंह ने दीप प्रज्वलित करके समारोह का शुभारम्भ किया तथा मां सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण किया। पाली से आये चन्द्रशेखर गिरी ने “ई सुन्दर देहियां माटी क ह” भजन प्रस्तुत किया।

सांस्कृतिक कार्यक्रम की शुरूआत चन्द्रशेखर गिरी के भजन से हुई। इसके बाद छात्राओं द्वारा मां सरस्वती की वंदना प्रस्तुत किया गया। अमृता एंव ऐश्वर्या ने बासंतिक गीत प्रस्तुत किया। राकेश श्रीवास्तव ने “धन्य है धन्य है उ0प्र0″गीत प्रस्तुत किया। मयंक ने भारत वर्ष की गौरवगाथा गाया। अन्त में अयोध्यादास राजकीय बालिका इंटर कालेज की छात्राओं द्वारा गीत “देश रंगीला रंगीला” देश मेरा रंगीला”प्रस्तुत कर वातावरण को देशभक्तिमय बना दिया।

वाद्य यन्त्रों पर गौरव मिश्र, माधव मिश्र, रानू जानसन एंव नागेन्द्र ने सहयोग दिया।जबकि इस मौके पर सूचना एंव जनसम्पर्क विभाग द्वारा पंडित दीन दयाल उपाध्याय पर चित्र प्रदर्शनी का आयोजन किया गया। इसमें उनके जन्म से विद्यार्थी जीवन एंव युवावस्था तथा सामाजिक सेवा का विस्तार से वर्णन किया गया है। इसके अलावा महिला सुरक्षा पर प्रोबेशन, बाल विकास सेवा एंव पुष्टाहार, गन्ना, राष्ट्रीय आजीविका मिशन, कृषि, सनेट्री नैपकीन, प्रधानमंत्री आवास योजना का माडल,स्वच्छ भारत मिशन पर प्रदर्शनी का आयोजन किया।

आज आयोजित स्थापना दिवस पर महापौर सीता राम जायसवाल ने कहा कि उ0प्र0 कृषि आधारित प्रदेश है। यहां का हवा एंव पानी शुद्ध होना चाहिए। प्रत्येक नागरिक यहां की पर्यावरण की रक्षा करे। प्रदेश की चीनी मिलों को पुनः चालू कराया जाये, जिससे प्रदेश का विकास हो सके।

इस मौके पर नगर विधायक डा राधामोहन अग्रवाल ने कहा कि उत्तर प्रदेश का गौरवशाली इतिहास रहा है। आजादी के 68 साल बाद प्रदेश का स्थापना दिवस मनाने के लिए उन्होंने प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बधाई दिया। उन्होंने कहा कि संविधान लागू करने के दो दिन पूर्व 24 जनवरी 1950 को इसका नाम यूनाइटेड प्राविन्स से बदलकर उत्तर प्रदेश रख दिया गया।उन्होंने कहा कि स्वतंत्रता संग्राम का पहला संग्राम 1857 में उत्तर प्रदेश से शुरू हुआ। इसके बाद स्वतंत्रता संग्राम में भी प्रदेश ने अग्रणीय भूमिका निभाया। इसी कारण से अंग्रेजों ने इसको पिछड़ा रखा। वर्तमान सरकार प्रदेश के पिछड़ेपन को दूर करने का भरसक प्रयास कर रही है। देश विदेश के उद्यमी प्रदेश में उद्योग लगाने जा रहे हैं।

जबकि विश्वविद्यालय के प्रोफेसर शरद कुमार मिश्रा ने कहा कि शिक्षा के पिछड़ेपन को दूर करके ही पूर्वान्चल एंव प्रदेश का विकास कर सकते हैं। इसी क्रम में प्रोफेसर अजय शुक्ला ने बेटी बचाव बेटी पढ़ाओ को बढ़ावा देते हुए इसको आत्मसात करने की अपील किया। उन्होंने कहा कि वर्तमान समय में बेटी को शिक्षित करना तथा उसे सुरक्षित करना आवश्यक है।

गोष्ठी में विश्वविद्यालय के छात्र शुभेन्द्र सत्यदेव, सर्वेेश पाण्डेय,डायट के शिवेन्द्र प्रताप सिंह तथा सोनिया जायसवाल ने अपने विचार व्यक्त किये। जिला विकास अधिकारी बब्बन उपाध्याय ने धन्यवाद ज्ञापन दिया। अध्यापिका गीता श्रीवास्तव ने पूरे कार्यक्रम का संचालन किया।

इस अवसर पर सीडीओ अनुज सिंह, एडीएम प्रशासन प्रभुनाथ, एडीएम रजनीश चन्द्र,सिटी मजिस्ट्रेट विवेक श्रीवास्तव,सप्तऋषि, हिमांशु शेखर,ज्ञान प्रकाश भदौरिया,संजय सिंह, सर्वजीत सिंह,उच्च शिक्षा अधिकारी अश्वनी मिश्र, पीडी यशवन्त सिंह, अरविन्द चौधरी ,विभागीय अधिकारी,छात्र छात्राएं एंव जन प्रतिनिधि गण उपस्थित रहे।

Related Posts

पूरे हर्षोल्लास से गोरखपुर में मनाया यूपी स्थापना दिवस, प्रदर्शनी में दिखी विकास की झलक