April 18, 2018
देवरिया / कुशीनगर

कुशीनगर में 150 प्राथमिक विद्यालयो को मॉडल स्कूल के रूप मे विकसित करने का लक्ष्य

कुशीनगर 150 प्राथमिक विद्यालयो को मॉडल स्कूल मे विकसित करने का लक्ष्य

मोहन राव
कुशीनगर: जिलाधिकारी आन्द्रा वामसी ने कहा कि जनपद मे प्राथमिक विद्यालयो के शिक्षा की गुणवत्ता को और बेहतर बनाने के लिए 150 स्कूलो को मांडल स्कूल के रूप मे विकसित किया जायेगा साथ ही आगनबाड़ी केन्द्रो को प्ले स्कूल के रूप मे किये जाने का भी आश्वासन दिया।

जनपद के समस्त ग्राम पंचायतो मे शौचालय निर्मित हो इसी के तहत स्वच्छ भारत अभियान के अन्तर्गत खुले मे शौचमुक्त हेतू कार्यशाला का आयोजन शनिवार को कसया विकास खंड के मैनपुर गांव मे आयोजित किया गया था जिसके मुख्य अतिथि जिलाधिकारी आन्द्रा वामसी रहे। इस मौके पर उन्होने कहा कि इस गाँव में विगत नौ माह पूर्व तथा आज की स्थिति मे प्रा विद्यालय में बहुत अंतर देखने को मिला।

उन्होने कहा कि निरंतर पढ़ाई की गुणवत्ता, शिक्षा का स्तर बेहतर हो इसके लिए उन्हे अपनी सोच को बदलते हुये इस क्षेत्र मे कार्य करने की जरूरत है। शिक्षक समय से विद्यालय पहुंचकर पठन पाठन पर विशेष ध्यान दे। उन्होने कहा कि बच्चो की शिक्षा की प्राथमिक नीव प्राईमरी है साथ ही शिक्षा एक मंदिर है जहां से बच्चो के शिक्षा दीक्षा का कार्य प्रारम्भ किया जाता है। इस लिए शिक्षको मे जिज्ञासा की जरूरत है।

यूनिफार्म के सम्बंध मे उन्होने कहा जनपद के समस्त प्राथमिक विद्यालयो मे शत प्रतिशत का वितरण कर ली गयी है। उन्होने आगनवाड़ी केन्द्र को भी प्ले स्कूल के रूप मे किये जाने का अश्वासन दिया। जिलाधिकारी ने कहा कि जनपद मे कुल वर्तमान समय से 150 स्कूलो को माडल स्कूल के रूप मे विकसित किया जाना है शेष को इसी श्रेणी मे विकसित किया जायेगा।

जिलाधिकारी ने शौचालय के सम्बंध मे आम लोगो को जागरूक करते हुये कहा कि शासन का यह मंशा है कि प्रत्येक घर शौचालययुक्त हो इसी परिपेक्ष्य मे इस कार्यशाला का आयोजन किया गया है। जिला पंचायत राज अधिकारी राघवेन्द्र प्रसाद द्विवेदी ने कहा कि शिक्षा और स्वास्थ्य दोनो एक दूसरे के पूरक है।

उन्होने कहा कि प्रा स्वास्थ्य केन्द्रो पर स्वास्थ्य समितियो का गठन कर दवाईयो की उपलब्धता हेतू इसे और बेहतर बनाया जायेगा। साथ ही प्रत्येक परिवार से 10-10 रूपये की धनराशि भी जमा करायी जायेगी साथ ही प्रत्येक परिवारो की अनुउपलब्धता  न हो सके।

Related Posts

कुशीनगर में 150 प्राथमिक विद्यालयो को मॉडल स्कूल के रूप मे विकसित करने का लक्ष्य