April 18, 2018
टॉप न्यूज़

रेल बजट 2018: मुख्य बातें

रेल बजट 2018

नई दिल्ली: आम बजट के साथ वित्त मंत्री अरुण जेटली ने रेल बजट 2018 भी पेश कर दिया। ये दूसरी बार है जब आम बजट के साथ साथ रेल बजट को भी पेश किया गया। पहले रेल बजट को अलग से पेश किया जाता था। तब इसके लिए पूरा दिन अलग से होता था। रेलमंत्री बजट को पेश करते थे।

इस बार का रेल बजट सिर्फ एक पेज में सिमटा हुआ था। इसलिए कभी पूरे एक दिन चलने वाला बजट एक पन्ने में सिमट गया। रेलवे को लेकर न तो कोई बहुत बड़ी घोषणा हुई और न ही पुरानी घोषणाओं और ट्रेन को लेकर बात हुई। वित्त मंत्री ने कुल 7 प्वाइंट्स में इस रेल बजट को समाप्त कर दिया।

कौन सी नई ट्रेनें होंगी और पुरानी ट्रेनें जो प्रस्तावित हैं, उनका क्या हुआ, इस पर कोई बात नहीं हुई। पिछले दो साल में हुए हादसों पर भी न तो कोई बड़ी घोषणा हुई और न ही इसको लेकर सरकार की पहल बजट में सुनाई दी। सबसे बड़ी घोषणाओं की बात करें तो सिर्फ रेलवे को पूरी तरह से ब्रॉडगेज करना मानवरहित रेलवे क्रॉसिंग को खत्म करने की घोषणा सामने आई।

रेल बजट 2018: मुख्य बातें

–बुलेट ट्रेन परियोजनाओं के लिए आवश्यक जनशक्ति को प्रशिक्षण देने के लिए बड़ोदरा में एक संस्थान स्थापित किया जाएगा
— सभी स्टेशन और ट्रेनों में वाईफाई और सीसीटीवी की व्यवस्था होगी
–रेलवे के आधुनिकीकरण के लिए 1 लाख 48 हजार करोड़ रुपये का फंड दिया जाएगा।
–पूरी भारतीय रेल को ब्रॉडगेज किया जाएगा।
–रेलवे को जारी किए गए फंड का बड़ा हिस्सा पटरियों और गेज को बदलने के लिए खर्च किया जाएगा।
–17 हजार करोड़ रुपए ज्यादा मिले रेलवे को इस बार
— 25 हजार रेलवे स्टेशनों पर लगेंगी स्वचालित सीढ़ियां।
— मुंबई लोकल का दायरा बढ़ाया जाएगा, 90 किलोमीटर के लिए नई डबल लाइन
— 600 स्टेशनों को आधुनिक बनाएंगे।

Related Posts

रेल बजट 2018: मुख्य बातें