April 17, 2018
टॉप न्यूज़

विभागीय लेट लतीफी से सुंदरीकरण की कवायद को झटका

सीएम सिटी सुंदरीकरण की कवायद को झटका

गोरखपुर: सीएम सिटी को खूबसूरत बनाने को एक तरफ जहां सरकार और नगर निगम जोर दे रही है, वही बिजली विभाग की लापरवाही से सुन्दरीकरण काम में बाधा उत्पन्न हो रही है। जहाँ शहर की सड़कों पर खड़े बिजली के खंभे राहगीरों के लिए परेशानी के साथ-साथ खूबसूरती को भी छीन रहे हैं।

बता दें कि सीएम सिटी को सुंदर बनाने और एयरपोर्ट से सर्किट हाउस तक सड़क चौड़ीकरण की योजना बनी थी। जिसके लिए रास्ते मे पड़ने वाले बिजली के खम्भो और तारों को शिफ्ट किया जाना था।किन्तु बिजली के खंभे और तार हटाने के लिए विभागों के बीच धीमा गति का खामियाजा पब्लिक भुगत रही है। एक ओर जहां कई साल में रास्ते में खड़े खंभे ट्रैफिक के लिए सिरदर्द बने हैं ,वहीं दूसरी ओर इससे सड़कों के चौड़े होने का फायदा नहीं मिल पा रहा है।

बिजली विभाग के अधिकारियों का कहना है कि खंभे हटाने के संबंध में प्रक्रिया अपनाई जा चुकी है।कुछ जगहों पर दूसरे विभागों को इसकी जिम्मेदारी दी गई है। सुन्दरीकरण वाले रास्तों पर भी काम चल रहा है। सर्किट हाउस से लेकर एयरपोर्ट तक सड़क का चौड़ीकरण किया जा रहा है। करीब 3 किलोमीटर सड़क के बीच के निर्माण में करीब 90 करोड रुपए का बजट किया गया है। जबकि इस रास्ते में चलने वाले बिजली के खंभों की शिफ्टिंग के लिए बिजली निगम के अधिकारियों ने ₹45 करोड़ के खर्च का आकलन किया था,तभी से मामला पेंडिंग है।

सड़क बनाने के लिए और मिट्टी की खुदाई का काम चल रहा है लेकिन इस रूट पर खंभों को नहीं हटाया जा सका है।जिससे ज्यादा खराब हालत मोहद्दीपुर चौराहे पर हैं।चौराहे का चौड़ीकरण कराने के बाद जिम्मेदार इसको भूल गए हैं।सड़क के एक किनारे पर दो खंभे से हाईटेंशन लाइन गुजरती है।शहर में मोहद्दीपुर से लेकर बरगदवा तक सड़क को चौड़ा किया जाना है। इस रास्ते में करीब 2 सौ बिजली के खंभों का शिफ्ट करना पड़ेगा और ट्रांसफार्मर से जुड़े तारों को हटाने के लिए बिजली निगम के अधिकारियों ने करीब 51 करोड रुपए का एस्टीमेट तैयार किया है। योजना के तहत तार और को हटाया जाना है ।

हालांकि इस मामले में पीडब्ल्यू के अधिकारियों का कहना है खंभों के वजह से यहां अभी कोई काम नहीं शुरू हो सका है। बिजली विभाग,पीडब्ल्यू , नगर निगम और जीडीए के बीच बात नहीं बन पाने से काम नही हो पा रहा है। इस संबंध में महानगर विद्युत वितरण मंडल के इंजीनियर एके सिंह का कहना है कि कुछ जगहों पर बिजली के खंभे हटाने के संबंध में प्रक्रिया चल रही है। मोहद्दीपुर रोड पर पेड़ों को लेकर विवाद सामने आने के मामला पेंडिंग हो गया था।

पूरे इलाके में तार को हटाने के लिए पीडब्ल्यूडी ने जिम्मेदारी ली थी,लेकिन इसमें भी कोई प्रगति नहीं है।उम्मीद है कि जल्द ही काम शुरु हो जाएगा अन्य जगहों पर ट्रांसफार्मर की शिप्टिंग चल रही है। फिलहाल सड़क चौड़ी होने के बावजूद पोल की वजह से रास्ता नहीं मिल पाता है। पोल से सटे वाहन खड़े करके सवारियां भरी जाती हैं जिससे जाम लगता है। पुलिस के नजरअंदाज करने पर सड़क के दोनों किनारे दुकानें लगा दी जाती है।

Related Posts

विभागीय लेट लतीफी से सुंदरीकरण की कवायद को झटका