April 18, 2018
गोरखपुर

बंगाल में फिर सम्मानित हुए पूर्वांचल रत्न ज्योतिर्विद डॉ धनेश मणि

बंगाल में फिर सम्मानित हुए पूर्वांचल रत्न ज्योतिर्विद डॉ धनेश मणि

गोरखपुर: दक्षिणी कोलकाता एस्ट्रोलोजी व वास्तु साइंस अकादमी के तत्वावधान में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय ज्योतिष सम्मेलन, सुजाता सदन कोलकाता में पूर्वांचल रत्न डॉ धनेश मणि त्रिपाठी को संस्था के चेयरमैन प्रो. डॉ. अभिज्ञान दास के साथ विद्वानों नें मिलकर ‘धर्मगुरु अवार्ड’ से सम्मानित किया।

ज्ञात हो दक्षिणी कोलकाता एस्ट्रोलोजी व वास्तु साइंस अकादमी के तत्वावधान में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय ज्योतिष सम्मेलन,सुजाता सदन कोलकाता में डॉ धनेश मणि बतौर मुख्य अतिथि आमंत्रित थे व पूर्वांचल का प्रतिनिधित्व कर रहे थे। इसके साथ ही देश-विदेश से आये हुए सभी विद्वानों को बतौर मुख्य अतिथि डॉ धनेश ने सम्मानित किया।

बतौर मुख्य अतिथि डॉ धनेश ने ज्योतिष की विशेषता बताते हुए कहा कि ज्योतिष एक साधना का विषय हैं,जो संस्कृत तथा वेदशास्त्रों के ज्ञान से संभव हैं। चार दिन पत्रिका व दो किताबे पढ़कर, इसका अध्ययन नही हो सकता। यह समाज में केवल ज्योतिषी को ही नहीं बल्कि ज्योतिष शास्त्र को सशंकित बनाता है। इसलिए सभी बंधू अपने आप को ज्ञान की कसौटी पर कसे, फिर समाज सेवा में आये क्योंकि ज्योतिष विज्ञान नही विशिष्ट विज्ञान हैं,जिससे मानव जाति का कल्याण होता है।

आयोजक अभिज्ञान दास ने आभार ज्ञापन करते हुए कहा की डॉ त्रिपाठी के विचार व व्याख्यान से युवाओं के साथ पूरा बंगाल लाभान्वित हुआ व ऐसे ही अपना मार्गदर्शन करते रहें।

Related Posts

बंगाल में फिर सम्मानित हुए पूर्वांचल रत्न ज्योतिर्विद डॉ धनेश मणि