April 17, 2018
टॉप न्यूज़

नईम एंड संस छापा: अब पुलिस के रडार पर एक दशक में हुए नव धनाढ्यों के आय का स्रोत

गोरखपर: टेरर फंडिंग प्रकरण में कारोबारी नसीम और अरशद भाइयों के पकड़े जाने के बाद अब जोन में पिछले एक दशक में धन्ना सेठ बने लोगों के आय का स्रोत पुलिस पता करेगी। इस सम्बंध में एडीजी जोन दावा शेरपा ने जोन के अधिकारियों को निर्देश जारी कर दिए हैं।

बता दें कि विगत एक दशक से जोन के जनपदों में काफी लोग बेशुमार दौलत हासिल कर नव धनाढ्य बने है।यह जरूरी नही है कि उन्होंने यह सम्पत्ति गैरकानूनी तरीके से ही हासिल की हो,किन्तु जोन के कई जनपदों की सीमा पड़ोसी राष्ट्र नेपाल से लगी होने के कारण इसका फायदा उठाते हुए अवांछित कार्यों को अंजाम देने की घटनाएं भी सामने आ चुकी हैं।

इसी बीच गोरखपुर समेत आसपास के जनपदों से गिरफ्तार लोगों द्वारा टेरर फंडिंग में लिप्त होकर देशविरोधी गतिविधियों में संलिप्तता भी सामने आ चुकी है।लिहाजा अब पुलिस के सन्देह का दायरा बढ़ना स्वाभाविक है।जिसे देखते हुए एडीजी जोन दावा शेरपा ने अब जोन में पिछले एक दशक में तेजी से बढ़े नव धनाढ्यों की सूची तलब करते हुए अधिकारियों को उनके आय का स्रोत पता करने के निर्देश दिए हैं।इससे साबित भी हो जाएगा कि नवधनाढ्यों के अकूत सम्पत्ति के मालिक बनने के पीछे कौन सा रहस्य छिपा है।

Related Posts

नईम एंड संस छापा: अब पुलिस के रडार पर एक दशक में हुए नव धनाढ्यों के आय का स्रोत