News in Basti Up - Best News in basti in Hindi, Basti news in Hindi, gorakhpur.finalreport.in

Final ReportOctober 2, 2016
JP-Nadda.jpg

jp-naddaबस्ती: केंद्रीय स्वस्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने जिले में 190 करोड़ रुपये की लगत से बनने वाले मेडिकल कालेज की आधारशिला रखी। इस मौके पर केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अनुप्रिया पटेल के साथ बस्ती मंडल के सभी सांसद मौजूद थे। केंद्रीय मंत्री का स्वागत उत्तर प्रदेश के राज्यमंत्री राम करन आर्य ने
किया।

नड्डा और अनुप्रिया पटेल ने शनिवार को संयुक्त रूप से जिला टीबी अस्पताल में मेडिकल कालेज का शिलान्यास के दौरान बताया कि 190 करोड़ रुपये की लागत से यह मेडिकल कालेज बन रहा है जिससे संतकबीर नगर, अंबेडकर नगर, सिद्धार्थनगर सहित आसपास के जिलों के लोगों को इलाज के लिए दूर नहीं जाना पडे़गा।

मंत्री नड्डा ने प्रदेश में आगामी चुनाव को लेकर कमर कसते हुए कहा की नेतृत्व सही हाथों में जाएगा तो हरियाली आएगी वरना ये धरती बंजर बन जायेगी।

उनकी मौजूदगी में स्वास्थ्य राज्यमंत्री अनुप्रिया पटेल ने कहा कि पूर्वांचल में बन रहे तीन मेडिकल कालेजो में MBBS की पांच सौ सीटें बढ़ेंगी जिससे अधिक लाभ होगा।

इस दौरान सांसद बस्ती हरीश द्विवेदी, डुमरियागंज के जगदम्बिका पाल और संतकबीरनगर के सांसद शारद त्रिपाठी मौजूद थे।


GFR DeskSeptember 24, 2016
Basti-police-nabbed-four-me.jpg

basti-police-nabbed-four-meबस्ती: जिले में आज कल चौथ मांगने वाला एक गैंग सक्रिय है। गैंग का सरगना जेल से अपने गुर्गो को सेठ महाजन के पास भेजकर रंगदारी वसूल कराता है। गैंग लीडर की बात नही मानने वालो पर उसके गुर्गे फायरिंग तक करते है। ऐसे गैंग का क्राईम ब्रांच की टीम ने खुलासा करते हुए चार आरोपियो को दबोच लिया है।

पुलिस अधीक्षक कृपाशंकर सिंह के निर्देश पर अपर पुलिस अधीक्षक रोहित मिश्र के पर्यवेक्षण में, क्षेत्राधिकारी कलवारी अरशद जमाल सिद्धकी के नेतृत्व में प्रभारी क्राईम ब्रांच इंचार्ज सर्वेश राय की टीम व थानाध्यक्ष कलवारी ओमप्रकाश यादव की संयुक्त टीम ने बेइली तिराहा के पास से 4 अभियुक्तो को धर दबोचा।

जानकारी के अनुसार अभियुक्त मनोज गुप्ता, निवासी कुशौरा, को रंगदारी ना देने के कारण हत्या के लिये जा रहे थे। पुलिस ने प्रेम प्रकाश चैधरी, सुभम दुबे, सुरसरी पाण्डेय, और अजय चैहान को गिरफ्तार किया है।

पुलिस ने अभियुक्तों के पास से घटना में प्रयुक्त डिस्कवर मोटर साइकिल, एक हीरो होण्डा मोटरसाइकिल, दो तमंचे, और कुछ कारतूस के अलावा तीन एटीम कार्ड बरामद किया है।

अभियुक्त जिला कारागार मे कैद पीयूष कुमार सिंह एवं अंकित पाण्डेय गैंग के सक्रिय सदस्य है। दोनों अपराधियों के कहने पर इनके गुर्गे जनपद में व्यवसायियों व ग्राम प्रधान एवं अन्य व्यक्तियों से रंगदारी की मांग करते थे। जिनके द्वारा पैसे नही दिये जाते थे। उनकी हत्या के प्रयास किये जाते थे।

पुलिस के अनुसार शुक्रवार को गैंग लीडर के निर्देश पर मनोज गुप्ता से रंगदारी की मांग के लिये जा रहे थे यदि श्री गुप्ता द्वारा रंगदारी नही दी जाती तो उनकी हत्या किये जाने की योजना थी। इन्हे बेइली मोड़ के पास गिरफ्तार किया गया।

अभियुक्तों ने पूछताछ में बताया कि वह पेशी पर न्यायालय आने एवं जिला कारागार पर जाकर अपने गैंग लीडर अंकित पाण्डेय व पीयूष सिंह से मिलते थे। उनके द्वारा सीधे तथा हमारे माध्यम से जनपद मे विभिन्नलोगो से पैसे की मांग की जाती थी। पैसे लेने के लिये गैंग के सदस्य बदल-बदल कर जाते थे यदि उक्त व्यक्ति द्वारा पैसे नही दिये जाते थे तो उन पर हमला किया जाता था।

रंगदारी से प्राप्त पैसे ये गैंग लीडर व अंकित पाण्डेय के पिता सुरसरी पाण्डेय देते थे। इनके द्वारा उक्त पैसो का गैंग लीडर के निर्देश खर्च किया जाता था। इन्होंने बताया की ये अजय चैहान निवासी हवेली खास के कार्यालय पर रूकते थे तथा वही से जाकर घटनायें करते थे। रंगदारी में प्राप्त धन में इन्हे भी हिस्सा दिया जाता था। भी यही पैसा देना था।


GFR DeskSeptember 22, 2016
Image-for-representation-2-3.jpg

image-for-representation-2लखनऊ: रेलवे प्रशासन द्वारा तुलसीपुर में लगने वाले नवरात्र मेला के अवसर पर होने वाली भारी भीड़ को ध्यान में रखते हुए यात्रियों की सुविधा के लिए एक से 11 अक्टूबर तक गोंडा-तुलसीपुर-गोंडा के मध्य एक जोड़ी मेला विशेष गाड़ी चलाई जाएगी।

मुख्य जनसंपर्क अधिकारी संजय यादव ने आईपीएन को बताया कि 5315 गोंडा-तुलसीपुर विशेष गाड़ी गोंडा से 12.20 बजे प्रस्थान कर तथा बलरामपुर से 13.27 बजे छूटकर तुलसीपुर 14.25 बजे पहुंचेगी। वापसी यात्रा में 5316 तुलसीपुर-गोंडा विशेष गाड़ी तुलसीपुर से 14.50 बजे प्रस्थान कर तथा बलरामपुर से 15.45 बजे छूटकर गोंडा 16.50 बजे पहुंचेगी।

इस गाड़ी का गोंडा से तुलसीपुर के बीच सभी स्टेशनों पर दो मिनट तथा हाल्ट स्टेशनों पर एक मिनट का ठहराव होगा। मेला अवधि एक से 11 अक्टूबर तक 14213/14214 गोंडा-वाराणसी-गोंडा इंटरसिटी एक्सप्रेस का मोतीगंज एवं रामघाट स्टेशनों पर दो मिनट का ठहराव होगा।


GFR DeskSeptember 21, 2016
The-arrested-clerk.jpg

the-arrested-clerkबस्ती: जिले में एंटीकरप्शन टीम ने बीएसए आफिस के एक क्लर्क को अध्यापक से घूस लेते रंगे हाथ पकड़ लिया। टीम ने कोतवाली मे एफआईआर दर्ज कराया जिसके बाद कोतवाली पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

मामला जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय से जुड़ा है जहां मलाईदार पटल पर वर्षो से तैनात लिपिक संतोष गुप्ता ने एक अध्यापक से ट्रान्सफर का आदेश कराने के नाम पर बीस हजार रुपये की डिमांड की थी। पीड़ित अध्यापक ने इसकी सूचना जिलाधिकारी को दी। जिनके निर्देश पर गोरखपुर एंटी करप्शन टीम सक्रिय हो गयी और आज सुबह शिक्षक से घूस की रकम लेते हिरासत में ले लिया।

the-arrested-clerk-1जिले के परशुरामपुर ब्लाक के नेदुआ में तैनात प्राईमरी स्कूल के शिक्षक शिवनाथ चौधरी ने ट्रान्सफर के लिए आवेदन किया था। जिसे आला अफसरों ने हां करते हुए सम्बंधित बाबू को आदेश जारी करने का निर्देश दिया था। मगर पटल पर तैनात बाबू संतोष गुप्ता जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी के नाम पर बीस हजार घूस देने पर ही आदेश निर्गत करने की बात कह फ़ाइल को दबा दिया।

police-doing-formalitiesउसकी इस हरकत से परेशान अध्यापक ने पहले तो बीएसए से शिकायत की मगर उसे कोई फायदा नहीं हुआ फिर जाकर पीड़ित ने जिलाधिकारी को पूरे घटनाक्रम से अवगत कराया। जिनके निर्देश के बाद संतोष बाबू अब पुलिस की हिरासत में है। शिक्षक शिवनाथ के मुताबिक उन्होंने उसी दिन इसकी शिकायत प्रदेश सरकार की वेबसाइट पर ऑनलाइन की लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। निराश होकर 19 सितम्बर को गोरखपुर स्थित विजिलेंस टीम से शिकायत की थी।

इस पूरे मामले में वर्तमान बेसिक शिक्षा अधिकारी मनीराम सिंह व् बाबू संतोष गुप्ता खिलाफ मुकदमा में कोतवाली दर्ज करा दिया गया है।


GFR DeskSeptember 13, 2016
Rajkishor-Singh-With-Shivpa.jpg

rajkishor-singh-with-shivpaबस्ती: भ्रष्टाचार के आरोपों के मद्देनजर सोमवार को मुख्य मंत्री अखिलेश यादव ने पंचायती राज मंत्री राजकिशोर सिंह और खनन मंत्री गायत्री प्रजापति की प्रदेश मंत्रिमंडल से छुट्टी कर दी। राजकिशोर सिंह पर जमीन हड़पने का आरोप है, जबकि गायत्री पर भ्रष्टाचार से जुड़े कई आरोप लगे हैं। बीजेपी ने पिछले दिनों तिरंगा यात्रा के दौरान हरैया से विधायक राजकिशोर सिंह पर आरोप लगाया था कि बाढ़, राशन, निर्माण कार्य और मुआवजे के नाम पर मंत्री ने खूब भ्रष्टाचार किया है।

एक नजर राजकिशोर सिंह के करियर पर

गंगिया कोहल निवासी अनंत सिंह के बडे पुत्र है राजकिशोर सिंह। श्री सिंह गोरखपुर विष्वविद्यालय से संबद्ध अंबिका प्रताप नारायण डिग्री कालेज में वर्ष 1990-91 में छात्र नेता के रुप में अपनी पहचान बनाई और छात्र संघ अध्यक्ष बने।

राजनीति के क्षेत्र में कदम बढाते हुए वर्ष 2000 में उन्होंने जिला पंचायत सदस्य का चुनाव जीता।

वर्ष 2002 में राजकिशोर सिंह ने हर्रैया विधानसभा क्षेत्र से बसपा के बैनर पर चुनाव लडकर जीत हासिल किया। कम उम्र के एमएलए होने का लाभ भी मिला और बसपा सुप्रीमों मायावती ने सरकार का गठन होते ही कैबिनेट मंत्री पद सौंपा। कैबिनेट मंत्री बने राजकिशोर सिंह को उद्यान विभाग का दायित्व मिला।

अचानक राजनीति में बदलाव आया और बसपा का साथ छोडकर राजकिशोर 2003 में समाजवादी पार्टी में शामिल होकर सपा के एमएलए बने। सपा सुप्रीमों ने राजकिशोर को उद्यान विभाग का कैबिनेट मंत्री बनाया।

वर्ष 2012 में सपा के टिकट से हर्रैया में एक बार फिर विधायक बने। इस बार अखिलेश सरकार ने राजकिशोर सिंह को लघु सिंचाई और पशुधन विभाग के की जिम्मेदारी सौंपी।

सौगात में मिला था पंचायती राज विभाग

वर्ष 2016 में हुए एमएलसी चुनाव के ठीक पहले राजकिषोर की राजनैतिक उपलब्धियों में एक और मंत्रालय की सौगात मिली। इसके पीछे कई पहलू सामने आए। पहला तो यह कि राजकिशोर सिंह के छोटे भाई बृजकिशोर सिंह डिंपल ने एमएलसी चुनाव के लिए पर्चा दाखिल किया। ऐन वक्त पर पार्टी हाईकमान ने टिकट काटकर संतोष कुमार यादव सन्नी को उम्मीदवार बनाया।

पार्टी के इस निर्णय से मायूस हुए राजकिशोर को पंचायती राज विभाग का अतिरिक्त प्रभार सौंपा। साथ ही बृजकिशोर सिंह डिंपल को पावर कारपोरेशन का सलाहकार सदस्य बनाकर एक और लालबत्ती की सौगात देकर खुश करने का काम किया।

राजकिशोर का राजनैतिक स्टार

बीते सोमवार को मंत्रिमंडल से बर्खास्त होने से पहले राजकिशोर सिंह का राजनैतिक स्टार हमेशा चरम पर ही रहा। पहली बार कैबिनेट मंत्री बनने के बाद राजकिशोर सिंह ने अपनी माता शारदा सिंह को जिला पंचायत अध्यक्ष बनाने में सफल हुए। इसके बाद अपने ही गांव के चाचा श्रपति सिंह को राज्यमंत्री का दर्जा दिलाया। मौजूदा समय में इकलौते बेटे देवेंद्र प्रताप सिंह शानू को प्रदेश का सबसे कम उम्र का निर्विरोध जिला पंचायत अध्यक्ष बनाने में सफल हुए। साथ ही भाई बृजकिशोर सिंह डिंपल को पावर कारपोरेशन का सलाहकार सदस्य बना चुके है।

हर्रैया विधायक राजकिशोर का स्टेटस

अखिलेश सरकार के कैबिनेट मंत्री रहे राजकिशोर सिंह, शिवपाल सिंह यादव के काफी करीबी माने जाते है। यही वजह है कि राजकिशोर सिंह का राजनीतिक और व्यक्तिगत स्टेटस दिन प्रतिदिन बढता ही चला गया। राजकिशोर सिंह वैसे तो ऑफिसियल रिकार्ड में मध्यमवर्गीय हैं, लेकिन आफ द रिकार्ड अरबो की संपत्ति अर्जित की है।

लखनउ में सरकारी बंगला 9ए एलाट हुआ जो शिवपाल सिंह यादव के सरकारी बंगले के ठीक पीछे है। यहां शिवपाल सिंह यादव और राजकिशोर सिंह अक्सर मिलकर राजनीति के साथ अन्य सलाह लेते रहते थे। यह माना जा रहा है कि राजकिशोर का स्टेटस बढाने के पीछे शिवपाल की अहम भूमिका रही है।

विधानसभा चुनाव के दौरान राजकिशोर सिंह द्वारा जिला निर्वाचन अधिकारी के समक्ष दाखिल किया गया हल्फनामा

आन द रिकार्ड हल्फनामा वर्ष 2007
पैन नंबर:- BDUPS3619D
स्वयं के पास 9 लाख 23 हजार एक सौ रुपए।
स्वयं के नाम से एक लाख की एलआईसी।
पत्नी के पास 30 लाख 90 हजार 545 रुपए।
पत्नी के नाम 3 लाख की एलआईसी।
आश्रित बडे बेट के नाम 3 लाख सहारा में फिक्स।
आश्रित छोटे बेटे के नाम 3 लाख सहारा में फिक्स।
स्वयं के पास 2 सोने की सीकड, 4 अंगूठी, एक जंतर और एक लाकेट कुल की अनुमानित कीमत 80 हजार।
पत्नी के पास 2 सेट हार और दो सेट कंगन। इसकी कीमत करीब 3 लाख रुपए।

आन द रिकार्ड 2012 का हल्फनामा

स्वयं राजकिशोर सिंह का BDUPS3619D
एक कार यूपी 32 सीडी 7622 कीमत 659297 रु
वर्ष 2011-12 का आईटीआर एमाउंट 139908.00 रु
स्वयं के पास नकद:- 125000 रु
एलआईसी एक लाख की
एसबीआई लाखनउ के एकाउंट में 16659.00
युनियन बैक बस्ती के एकाउंट में 209900.00 रु
सोना 111 ग्राम कीमत लगभग 3 लाख रु।
एक पिस्टल, एक बंदूक और एक रायफल। सकल मूल्य 1540856.00 रु

अचल संपत्ति
7 विस्वा भुअर निरंजनपुर में वर्ष 2007 में राजकिशोर सिंह ने स्वयं 8 फरवरी 2013 को एक लाख 23 हजार रुपए में खरीदा था। इसके बाउंडीवाल पर 20 हजार रुपए खर्च किए। वर्ष 2012 में इसकी अनुमानित कीमत 19 लाख रुपए दर्शाई गई है।

राजधानी दिल्ली से सटे गाजियाबाद में जीडीए मधुवन में आवास राजकिशोर सिंह पुत्र अनंत सिंह के नाम है। जो लगभग 3225 वर्ग फिट में बना है। इसकी कीमत करीब 39 लाख रुपए दर्शाई गई है। इस तरह कुल मिलाकर राजकिशोर सिंह 60 लाख की संपत्ति के मालिक बन गए। जबकि स्टेट बैंक लखनऊ से कार लोेन और गाजियाबाद डेवलपमेंट अथॉरिटी का कुल मिलाकर 1867492.00 रु के कर्जदार थे।

सुमन सिंह पत्नी राजकिशोर सिंह का पैन नंबर ABIPS0849J
वर्ष 2011-12 का आईटीआर एमाउंट 228102.00 रु
नकद 42790.00 रु
युनियन बैंक बस्ती के एकाउंट में 7907.00 रु
बैंक आफ इंडिया लखनऊ के एकाउंट में 490000 रु
एलआईसी 3 लाख

चकमल्हौरी लखनऊ और निजामपुर मल्हौर लखनउ में 19481 वर्ग फिट इनकी कीमत क्रमशः 339540.00रु,181000.00 रु और 594000 रु हल्फनामा में दर्शाया गया है। इन सभी के बाउंडीवाल पर करीब एक लाख रुपए खर्च हुए थे। इस तरह सिलाई कढाई करने वाली राजकिशोर सिंह की पत्नी सुमन सिंह कुल मिलाकर 98 लाख की मालकिन बन गई।

आश्रित बेटा देवेंद्र प्रताप सिंह के नाम 3 लाख सहारा इंडिया में फिक्स
आश्रित बेटा उपेंद्र प्रताप सिंह के नाम भी 3 लाख सहारा इंडिया में फिक्स
आश्रित बेटा उपेंद्र प्रताप सिंह के नाम एक लाख की एलआईसी।


GFR DeskSeptember 11, 2016
BJP-MP-Jagdambika-Pal.jpg

bjp-mp-jagdambika-palबस्ती: भाजपा सांसद जगदम्बिका पाल ने कहा है कि रेल मंत्रालय को फ्लैक्सी फेयर स्कीम पर एक बार पुर्नविचार करना चाहिए ताकी लाइफ लाइन माानी गई रेल सेवा में मध्यम वर्ग का रेल यात्री शताब्दी, राजधानी और दुरंतो जैसी रेल गाडी में भी सफर कर सके।

सांसद पाल ने अपनी भाजपा सरकार और रेल मंत्रालय को यात्रियों की सुविधाओं का ख्याल रखने की नसीहत दी। पाल ने तर्क दिया देश की करीब तीन करोड जनता रोजाना रेलगाडियों में सफर करती है। इन तीन करोड लोगों को एक स्थान से दूसरे स्थान पर पहुंचाने का काम रेलवे करती है।

उन्होंने कहा कि पूर्व के दिनों में सुविधा रेल गाडियां चलाई गई थी। इन गाडियों में भी यात्रा करने वालों को डेढ गुना अधिक किराया अदा करना पडता था। कुछ दिनों तक यात्रियों ने किसी तरह इन रेल गाडियों में यात्रा किया और उसके बाद यात्रियों की संख्या में लगातार गिरावट आने लगी, जो फ्लाप हो गई और थकहार कर रेल मंत्रालय को सुविधा जैसी रेल गाडियांे को बंद करने का निर्णय लेना पडा।

इसलिए रेल मंत्रालय को एक बार फ्लैक्सी फेयर स्कीम में शामिल की गई राजधानी, शताब्दी और दुरंतों जैसी रेल गाडियों का किराया कम करने पर विचार करना चाहिए। ताकी कन्याकुमारी से लेकर कश्मीर तक की यात्रा मध्यवर्गीय यात्री इन रेल गाडियों में सफर का आनंद उठा सके।

उन्होंने तर्क दिया कि आज एअर इंडिया ने यह घोषणा किया है कि हमारी हवाई सेवा का किराया रेल टू टायर के समान्तर होगा। तो कहीं न कहीं रेलवे की बडी संख्या कहीं न कहीं एयर इंडिया और निजी हवाई सेवा देने वाली कंपनियों की सेवा लेने की दिषा में कदम बढाएगी।

इसके लिए पाल ने कहा कि दिल्ली पहुंचकर रेल मंत्रालय से लेकर रेलवे बोर्ड के अधिकारियों से निवेदन करेंगे। ताकि माध्यमवर्गीय रेल यात्री इन रेल गाडियों में सफर कर सके।

शहाबुद्दीन के बारे में सोचे बिहार के सीएम

जगदम्बिका पाल ने बिहार की हालत पर चिंता जाहिर किया। कहा कि बिहार प्रदेश की जनता दहषत के साये में अपना जीवन व्यतीत करने को मजबूर है। बिहार के लिए दहशत का पर्याय बने शहाबुद्दीन जैसा कुख्यात अपराधी जेल से बाहर आ चुका है। जो अपना नेता पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव को मानता है। ऐसी हालत में बिहार के मुख्यमंत्री नितीष कुमार को इस विषय पर सोचने की आवष्यकता है।

सांसद जगदम्बिका पाल ने कहा कि शहाबुद्दीन जैसा अपराधी जब जेल में रहते हुए अपनेे विरोधियों को मौत के घाट उतारता है। अगर शहाबुद्दीन को लगा कि उसके उपर दर्ज किसी भी मुकदमें में कोई गवाही देने जा रहा है तो उसे भी अपने गुर्गो और भाडे के शूटरों से मौत की सुलाने का काम करता है। ऐसे में अब वह जेल से बाहर आ चुका है। इसलिए बिहार का मुख्यमंत्री होेने के नाते नितीष कुमार को इस विषय में गहन सोचने की जरुरत है। सांसद पाल ने बिहार के पूर्व सीएम लालू प्रसाद यादव को अपराधियों का सरगना करार दिया।

उन्होंने कहा कि आज लालू और नितीश के गठबंधन की सरकार है और यही कारण है कि शहाबुद्दीन जैसा अपराधी जेल के बाहर है। क्योंकि शहाबुद्दीन के उपर 63 केस हत्या, अपहरण जैसे संगीन अपराध के मुकदमें दर्ज है। सीएम नितीष कितना भी कहें कि यह हमारे लिए गंभीर विषय नहीं है, लेकिन एक प्रदेश का मुखिया होने के नाते उन्हें सोचने की आवष्यकता है।

उन्होंने कहा कि शहाबुद्दीन के जेल के बाहर आने से बिहार के अलावा अन्य प्रदेष में भी अपराध का ग्राफ बढेगा। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश बिहार से सटा है और कहीं ऐसा न हो कि शहाबुद्दीन का आतंक यहां भी कायम हो जाए।


GFR DeskSeptember 11, 2016
People-at-NH-28.jpg

people-at-nh-28बस्ती: संदिग्ध परिस्थितियों में जेल में बंद कैदी की हुई मौत से नाराज ग्रामीणों ने नेशनल हाइवे को जाम कर पुलिस के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज करने की मांग की है। घटना कप्तानगंज थाने की है जहा बीते 30 जुलाई को गोरखपुर के जिला जज की गाडी पर हमला कर कांवड़ियों ने घायल कर दिया था जिसमे बीच बचाव करने गए इलाके के हनुमान चौधरी को पुलिस ने मुख्य अभियुक्त बना हवालात में डाल दिया।

जिसकी संदिग्ध परिस्थितियों में इलाज के दौरान बीआरडी मेडिकल कॉलेज गोरखपुर में मौत हो गयी। उधर परिजनों ने शव को लेने के लिए प्रशासन के सामने तीन शर्त राखी है।

जिले की पुलिस पर निर्दोष की हत्या करने का संगीन आरोप लगा है। इस सवाल का जवाब पुलिस के पास भी नहीं है। यही कारण है कि बस्ती फैजाबाद नेशनल हाईवे रविवार को घंटों बंद रहा।

hindu-yuva-vahini-leader-at

कप्तानगंज थाना इलाके में बीते 30 जुलाई को गोरखपुर के जिला जज की गाडी पर हमला कर कांवड़ियों ने उन्हें घायल कर दिया। इस घटना के बाद आरोपी कांवड़िये तो भाग निकले मगर इसी बीच कांवड़ियों को बुरा भला कहते हनुमान चौधरी आ गए जिन्हें विश्वास में लेकर पुलिस थाने लायी और रात भर लाकप में रख हमलावरों की तलाश में जुट गयी लेकिन पुलिस के हाथ कोई नही लगा।

इधर मामला जिला जज से जुड़ा था सो आनन फानन में पुलिस ने हनुमान को मुख्य आरोपी बना जेल भेज दिया। कुछ दिन तो जेल में ठीक रहा मगर बाकी लोंगो की गिरफ्तारी न कर सकी इस के दबाव में पुलिस विचलित हो गयी और जेल में बंद मुख्य अभियुक्त हनुमान पर मानसिक दबाव बढ़ा दिया।

police-at-nh-28

परिजनों की माने तो जेल में हनुमान से बीम खिंचवाया गया जिससे उसकी हालत बिगड़ गयी। लेकिन समय पर इलाज नहीं हो सका फलस्वरूप उसे गोरखपुर भेजा गया जहाँ उसकी मौत हो गयी।

नाराज ग्रामीणों ने शव को लेने से मना कर दिया और तीन शर्तों पर मानने की बात कही जिसमे पहला सीबीआई जांच की मांग दूसरा कप्तानगंज एसओ के खिलाफ हत्या का मुकदमा और मृतक के परिजनों को बीस लाख की नकद सहायता देने की मांग रखी।

फिलहाल पुलिस ने 72 घण्टे की मोहलत मांगी है।


GFR DeskSeptember 11, 2016
UP-Minister-Rajkishore-Sing.jpg

up-minister-rajkishore-singबस्ती: प्रदेश सरकार के काबिना मंत्री राजकिशोर सिंह ने शनिवार को कस्तुरबा विद्यालय में पढ़ने वाली गरीब बच्चियों को सोलर लैम्प बांटा। जिले की 13 कस्तुरबा विद्यालय की कुल 117 बच्चियों के चेहरे सोलर लैंप पाते ही खिल उठे। सोलर लैंप के लिये उन बच्चियों का चयन किया गया जिन्होंने अपने-अपने विद्यालय में प्रथम और द्वितीय स्थान हासिल किया था।

इन बच्चियों को प्रोत्साहन के लिये मुख्यमंत्री के निर्देष पर सोलर लैंप दिया गया जिससे ये सभी होनहार छात्रायें बिजली कटौती होने पर इसका इस्तेमाल कर सके।

इस अवसर पर बोलते हुए श्री सिंह ने कहा की प्रदेश सरकार की जनहित की योजनाओं ने गरीबों के दिल मे खास जगह बनाई है। जो मील का पत्थर साबित हो रही है। हर क्षेत्र में ग्रामीण इलाकों में गरीबों को मुख्यमंत्री अखिलेश की योजनायें लाभ पहुंचा रही है।

studentsसोलर लैंप पाने वाली छात्राओं ने भी मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त करते हुये कहा कि सीएम सर ने उनके सपनों को पंख लगाने का काम किया है जिससे अब वे भी मन लगाकर पढ़ाई करेंगी और आगे चलकर इंजीनियर, डाक्टर या फिर वैज्ञानिक बन कर जिले का नाम रोशन कर सकेंगी।

यह योजना प्रदेश की अखिलेश यादव सरकार के नेडा विभाग द्वारा चलाई जा रही है।

मुख्य अतिथि के तौर पर पहुंचे मंत्री राजकिशोर सिंह ने बच्चियों को सोलर लैंप सौंपा और उम्मीद जताई कि आने वाले समय में और बड़े पैमाने पर कस्तुरबा स्कुलो में पढ़ने वाली गरीब बेटियों के लिये बजट का इंतेजाम किया जायेगा ताकि आज जिन बच्चियों को सोलर लैंप नहीं मिला है अगली बार उन्हे भी सोलर लैंप देने की व्यवस्था किया जायेगा।

मंत्री ने कहा कि सोलर लाईट वितरण के मामले में पुरे देश में हर्रैया विधानसभा नबंर एक पर है जहां उन्होने अपनी विधायक निधि का 100 फिसदी सोलर लाईट पर खर्च किया है। सपा सरकार प्रदेश में योजनाओं के प्रचार प्रसार की दिशा में अब काम करना शुरू कर दिया है।

students-with-solar-laternवहीं मंत्री राजकिशोर ने कांग्रेस के राहुल गांधी पर तल्ख टिप्पणी करते हुये कहा कि राहुल और कांग्रेस दोनो डुबती नैयया है और मुख्यमंत्री जी राहुल के मनोबल को बढ़ाने के लिये कहा था कि राहुल अच्छे लड़के है ताकि राहुल यूपी में और मेहनत करे।

उन्होंने कहा की कहा कि इस बार यूपी में अखिलेश नाम की आंधी चलेगी, जिस दिन अखिलेश पूर्वांचल में घुसेंगे उस दिन सड़को पर चलने को जगह नहीं मिलेगी।


GFR DeskSeptember 10, 2016
The-damaged-bus.jpg

the-damaged-busबस्ती: जनपद के मुंडेरवा में शनिवार की सुबह देवरिया डिपो की एक अनियंत्रित बस की चपेट में आने से एक ग्यारह वर्षीय किशोर की मौत हो गयी। जिससे गुस्सायी भीड़ ने बस चालक को पीट पीट कर अधमरा कर दिया। मौके पर पहुँची पुलिस ने चालक को भीड़ से छुड़ा कर अस्पताल पहुंचाया।

प्राप्त जानकारी के अनुसार आज सुबह देवरिया से दिल्ली जा रही देवरिया डिपो की बस मुंडेरवा बाजार के पास अनियंत्रित हो गयी, जिससे उसकी चपेट में आकर साइकिल से सड़क पार कर रहे 11 साल के दुर्गेश घटनास्‍थल पर ही मौत हो गई।

घटना की जानकारी होते ही मुंडेरवा बाजार के लोग मौके पर दौड़ पड़े। किशोर की क्षत-विक्षत लाश देखकर भीड़ गुस्से से बेकाबू हो गई और ड्राइवर प्रमोद कुमार को पीट-पीटकर अधमरा कर दिया। भीड़ ने बस में भी जमकर तोड़फोड़ की।

ड्राइवर की बेतहाशा पिटाई देखकर किसी ने पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने किसी तरह ड्राइवर भीड़ के कब्जे से छुड़ाया। मरणासन्न हालत में ड्राइवर को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

 


GFR DeskAugust 20, 2016
UP-MInister-Pandit-Singh.jpg

UP-MInister-Pandit-Singh

(यूपी के कृषि मंत्री विनोद कुमार सिंह उर्फ पंडित सिंह)

गोंडा: शुक्रवार की देर रात यूपी के कृषि मंत्री विनोद कुमार सिंह उर्फ पंडित सिंह के यहां से एक समारोह से लौट रहे उनके करीबी नामित सभासद वैभव सिंह को पहले से घात लगा कर बैठे अज्ञात बदमाशों ने गोली मार दी। गोली लगने से घायल सभासद को गंभीर हालत में लखनऊ ट्रामा सेन्टर रेफर कर दिया गया है। वारदात की सूचना पर मंत्री के अलावा एसपी व एएसपी समेत आला अधिकारी जिला अस्पताल पहुंचे।

जानकारी के अनुसार सभासद वैभव सिंह मंत्री के यहां से अपने घर मालवीय नगर लौट रहे थे। घर के पास पहुंचते ही पहले से घात लगाकर बैठे हमलावरों ने उन पर ताबड़तोड़ दो फायर किये। पहली गोली से बचने के बाद दूसरे गोली उनके दाहिने कंधे पर लगी। उनके गिरते ही हमलावर मौके से फरार हो गए।

गोली की आवाज सुन आसपास के लोगों ने तत्काल घायल को जिला अस्पताल पहुंचाया। सूचना मिलने पर मंत्री श्री सिंह भी अस्पताल पहुंचे। चिकित्सकों की ओर से रेफर किये जाने के बाद मंत्री पुत्र सूरज सिंह घायल सभासद को लेकर लखनऊ ट्रामा सेन्टर गये। एएसपी आर के सिंह ने बताया कि हमला करने वालों की तलाश की जा रही है।

सभासद के ऊपर हुए हमले से पहले नगर के एक मिष्ठान्न व्यवसायी राम राहूजा को आर्डर देने के बहाने रोडवेज बस स्टेशन पर बुला कर अज्ञात बदमाशों ने गोली मार दी। घायल व्यवसायी का एक निजी अस्पताल में इलाज चल रहा है। इस घटना को लेन-देन की रंजिश से जोड़ कर देखा जा रहा है।

एक ही रात में दो वारदातों के बाद लापरवाही के मामले में एसपी सुधीर कुमार सिंह ने कोतवाल नगर हरि सिंह और बस स्टेशन चौकी इंचार्ज अतीउल्लाह को तत्काल प्रभाव से लाइन हाजिर कर दिया है।

इसके साथ ही सीओ सिटी शंकर प्रसाद को हटाकर तरबगंज सीओ भरत लाल यादव को सीओ सिटी बनाया गया है। शंकर प्रसाद को तरबगंज भेजा गया है।

LIKE US:

fb

error: Content is protected !!