News in Basti Up - Best News in basti in Hindi, Basti news in Hindi, gorakhpur.finalreport.in

Final ReportMay 17, 2016
Truck-robbers-ganag-busted-.jpg

Truck-robbers-ganag-busted-बस्ती: जनपद की स्वाट टीम और कोतवाली पुलिस ने ज्वॉइंट ऑपरेशन कर सोमवार को राष्ट्रीय राज्य मार्ग पर ट्रक लुटेरो के गिरोह को लूट की ट्रक के साथ गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तारों में तीन प्रतापगढ़ जिले के निवासी है।

बस्ती पुलिस अधीक्षक शंकर सिंह ने प्रेस वार्ता के दौरान खुलासा करते हुए बताया कि पिछले कई माह से हाइवे पर ट्रक लूट की घटनाओं को देखते हुए उक्त घटनाओं के खुलासे के लिए स्वाट टीम लगाया था, जिसका सहयोग कोतवाली पुलिस भी कर रही थी।

पुलिस ने पता किया तो मालूम पड़ा कि ट्रक लूटने वाले गिरोह का नेटवर्क प्रतापगढ़ से चलाते थे । देश भर में सौ से ज्यादा ट्रकों को ठिकाने लगा चुका है यह गैंग। इसी को आधार बनाकर पुलिस टीम ने 3 लुटेरो को प्रतापगढ़ के कुंडा से गिरफ्तार किया और उनसे पूछताछ के बाद 4 लुटेरो को बस्ती के मुडघाट से गिरफ्तार कर लिया।

जहाँ उनकी निशानदेही पर चोरी की ट्रक और एक फर्जी नम्बर प्लेट की कार, दो कट्टा, दो जिन्दा कारतूस बरामद किया। अपर पुलिस अधीक्षक रोहित मिश्रा और सीओ सदर पंकज सिंह के नेतृत्व में टीम काम कर रही थी ।

हमारा फेसबुक पेज LIKE करना न भूले:

fb

AD4-728X90.jpg-LAST


Final ReportMay 15, 2016
Image-for-representation-2-2.jpg

Image-for-representation-2बस्ती: प्रेमी द्वारा भरी पंचायत में शादी से इंकार कर देने पर किशोरी ने घर जाकर अपने ऊपर मिट्टी का तेल उड़ेलकर आत्मदाह कर लिया। मामला जिले के कलवारी के एक गांव का है। घटना की सुचना पर पुलिस मौके पर पहुंची तो लेकिन केवल फोटो खींच कर लौट गयी।

हलाकि एसओ कलवारी ओमप्रकाश यादव ने कहा कि यदि तहरीर मिलती है तो वह कार्रवाई करेंगे।

जानकारी के अनुसार गांव की किशोरी अपने पड़ोस में रहने वाले एक युवक से प्रेम करने लगी। वह युवक भी उसे शादी का भरोसा दिलाने लगा। दोनों के प्रेम की चर्चा गांव में होने लगी तो लड़की के परिजनों ने युवक के घर वालों से निकाह के अनुरोध किया। इस पर लड़के के परिजन तैयार नहीं हुए तो लड़की वालों ने पंचायत बुला ली।

70 लोगों की भरी पंचायत में 17 वर्षीय किशोरी ने अपने पड़ोसी युवक से प्रेम संबंध को स्वीकार करते हुए उससे शादी करने की बात की। उसने बताया था कि पिछले एक साल से भी ज्यादा समय से उसका युवक से प्रेम संबंध है। प्रेमी उसे बार-बार निकाह करने का आश्वासन दे रहा है।

इस पर पंचायत ने दोनों के निकाह की सलाह दी। इस पर युवक और उसके परिजनों ने किशोरी से किसी भी तरह के संबंध को सिरे से खारिज करते हुए निकाह करने से मना कर दिया।

प्रेमी के मुकरने से आहत किशोरी ने घर आकर मिट्टी का तेल अपने ऊपर उड़ेला और खुद को आग के हवाले कर दिया। पूरी पंचायत उसे बचा नहीं पाई।

 

हमारा फेसबुक पेज LIKE करना न भूले:

fb

AD4-728X90.jpg-LAST


Final ReportMay 7, 2016
Image-for-representation-8.jpg

Image-for-representation-8बस्ती: उत्तर प्रदेश के गोंडा में एक निलंबित शिक्षक ने शुक्रवार सुबह बभनान रेलवे स्टेशन पर बरौनी-ग्वालियर एक्सप्रेस के सामने कूदकर आत्महत्या कर ली।

पुलिस के मुताबिक, सेना में जवान रहे ओमप्रकाश यादव (45) ने बाएं हाथ में लकवा मारने के बाद इस्तीफा देकर शिक्षक की नौकरी ज्वाइन की थी। वह शुक्लपुरा जूनियर हाईस्कूल के सहायक अध्यापक थे, जो एक महीने से निलंबित चल रहे थे। उन्होंने दो दिन तक बीएसए के खिलाफ गोंडा के डीएम कार्यालय पर धरना भी दिया था। मुख्यमंत्री को भी पत्र भेजकर न्याय की गुहार लगाई थी।

प्रत्यक्षदर्शी बताते हैं कि ओमप्रकाश ट्रेन आने से कुछ देर पहले बभनान रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर दो पर खड़े थे। ट्रेन बगल के प्लेटफार्म नंबर एक पर खड़ी हुई। सिग्नल मिलने पर जैसे ही ट्रेन ने गति पकड़ी ओमप्रकाश प्लेटफार्म दो से उतर कर ट्रेन के करीब पहुंचे और अंतिम के दो डिब्बे बचने पर ट्रैक पर कूद गए।

ओमप्रकाश के भाई हरिराम ने उनकी आत्महत्या के लिए सिस्टम को जिम्मेदार ठहराते हुए मानवाधिकार आयोग का दरवाजा खटखटाने की बात कही है।

LIKE US:

fb
AD4-728X90.jpg-LAST

Final ReportMay 5, 2016
Image-for-representation-6-1.jpg

Image-for-representation-6गोंडा: दुनिया भर में रविवार को अंतर्राष्ट्रीय मजदूर दिवस मनाया गया। लेकिन गोंडा शहर में इस दिन 47,000 ग्रामीण रोजगार का सृजन कर एक तरह का रिकार्ड बना लिया है। हालांकि इस रिकार्ड को ज्यादा प्रचारित नहीं किया गया है, जबकि पहले यह राज्य ग्रामीण रोजगार योजना मनरेगा के अंतर्गत ग्रामीण रोजगार का सृजन नहीं करने को लेकर बदनाम था।

इसके अलावा गोंडा में अगले दस दिनों के लिए 15 लाख लोगों को रोजगार दिया गया। क्योंकि मनरेगा के तहत आवंटित 38 करोड़ रुपये की राशि इस्तेमाल नहीं होने के कारण लैप्स होने के कगार पर थी।

योजनानुसार मई दिवस के दिन एक साथ 1,054 गांवों में मनरेगा के तहत निर्माण कार्य प्रारंभ हो गया।

सरकारी अधिकारियों ने बताया कि नए जिला मजिस्ट्रेट (डीएम) ने पदभार संभालते ही पुरानी फाइलों पर धूल झाड़ते हुए रुकी हुई योजनाओं को शुरू करवाने की पहल की।

इस योजना के लिए जिला मजिस्ट्रेट ने 14 से 24 अप्रैल के बीच सभी 1,054 जिला पंचायतों में सार्वजनिक विचार विमर्श किया। इसके बाद इन सभी पंचायतों में मस्टर रोल जारी किए गए और निर्माण कार्य प्रारंभ करने के एक ही दिन में आदेश जारी किए गए।

डीएम आशुतोष निरंजन ने बताया कि एक मई के दिन 92.64 लाख रुपये निर्माण कार्यो पर खर्च किए गए और इस पूरे अभियान के दौरान दो हफ्तों में कुल 21 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे, जिसके तहत 1,357 परियोजनाओं पर काम होगा।

महात्मा गांधी ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना अधिनियम (मनरेगा) के तहत किए जाने वाले इन कार्यो में तालाब और नहरों की खुदाई, जमीन को समतल बनाना, अस्थाई सड़कों का निर्माण, खाद व पौध रोपण आदि कार्य शामिल है।

इसी तरह से राज्य से प्राप्त 17.37 करोड़ रुपये के वित्तीय अनुदान से 4,00,000 कार्यदिवस का सृजन किया जा रहा है।

इस अभियान को चलाने वाले युवा नौकरशाह ने बताया कि इसके तहत 56 किलोमीटर लंबी सड़क, 16 किलोमीटर इंटरलौकिंग, 25 किलोमीटर नहर की खुदाई, 10 हैंडपंप का उन्नयन, 9 कुओं की मरम्मत, पांच स्कूलों में शौचालय का निर्माण, 445 शोकपिट और विभिन्न पंचायतों की 41 किलोमीटर लंबी चहारदीवारी का निर्माण किया जा रहा है।

निरंजन आगे कहते हैं कि चूंकि अब शादियों का मौसम खत्म हो चुका है और खेती के मौसम में अभी देर हैं। इसलिए अस्थायी रोजगार और यहां तक कि स्थायीरोजगार के लिए भी यह आर्दश समय है।

LIKE US:

fb
AD4-728X90.jpg-LAST

Final ReportMay 5, 2016
Image-for-representation-3-1.jpg

Image-for-representation-3बस्ती: प्रदेश में आसन्न विधान सभा चुनावों को देखते हुए प्रमुख विपक्षी पार्टी बसपा ने अब अपने जादुई चिराग को रगड़ना शुरू कर दिया है और इस चिराग से निकले जिन्न लोगों के मतों पर काबिज होने को तैयार है।

बुधवार को प्रदेश मुख्यालय पर बसपा सुप्रीमो ने अपने थिंक टैंक की सिफारिशों पर कार्यवाही करते हुए बस्ती मण्डल की सीटों पर प्रभारियों की घोषणा कर दिया। पार्टी कार्यालय से जारी लिस्ट के मुताबिक बस्ती मण्डल के चुनावी रणनीति को परवान चढाने के लिए जोन कोर्डिनेटर लाल जी वर्मा और दिनेश चन्द्रा ने 3 उम्मीदवारों की लिस्ट चस्पा कर दी।

घोषित उम्मीदवारों में बस्ती जिले के हरैया विधान सभा से विपिन शुक्ला, सिदार्थ नगर के सोहरतगढ विधान सभा से जमील सिद्दीकी, संत कबीर नगर जिले के मेहदावल विधान सभा से हाजी मो अकरम हुसैन को हाथी का महावत चुन लिया गया है।

इस चयन लिस्ट की घोषणा के पूर्व बैठक कर पूर्व मंत्री एव वर्तमान विधायक राम प्रसाद चौधरी, बस्ती सदर विधायक जितेंद्र चौधरी, रुधौली बसपा प्रत्याशी राजेन्द्र प्रसाद चौधरी, महादेव से बसपा प्रत्याशी दुधराम सहित तमाम पदाधिकारीयों की उपस्थित में इनके नामों पर सहमति बनाई गयी।

LIKE US:

fb
AD4-728X90.jpg-LAST

Final ReportApril 29, 2016
Image-for-representation-2-8.jpg

Image-for-representation-2गोंडा: कस्बे में करनैलगंज-हुजूरपुर मार्ग पर रेलवे क्रॉसिंग के पास स्थित खेतान टिम्बर में गुरुवार तड़के अज्ञात कारणों से आग लग गई। फायर ब्रिगेड की दो गाड़ियां आठ घंठे की मेहनत के बाद भी आग को पूरी तरह से नहीं बुझा सकीं। इस आग से वहां रखा तमाम सामान राख हो गया। इससे टिम्बर फैक्ट्री में बड़ा नुकसान हुआ है।

यहां प्लाइवुड बनाने के लिए लकड़ी से पत्तों की छिलाई का कार्य किया जाता है। सुबह लगभग साढ़े तीन बजे आग लकड़ी के इन पत्तों के छोटे टुकड़ों के ढेर में लगी थी। मौके पर मौजूद चौकीदारों ने वहां लगी मोटर को चालू कर आग पर काबू पाने का प्रयास किया और इसकी सूचना मालिक गोपाल खेतान को दी।

लगभग पांच बजे करनैलगंज में मौजूद फायर ब्रिगेड की गाड़ी भी मौके पर पहुंचकर आग बुझाने में जुट गई। गाड़ी में पानी खत्म होने पर पास में मौजूद एक पंपिंग सेट को चालू करके उससे पानी लिया जाता रहा। आग बुझते न देखकर गोंडा से फायर ब्रिगेड की एक अन्य गाड़ी भी मंगाई गई।

दोनों से आग बुझाने का प्रयास होता रहा। इससे आग अन्यत्र नहीं फैलने पायी लेकिन बुझ भी नहीं सकी। पत्तों के टुकड़ों पर पानी पड़ते ही वह फैल जाता था तथा अंदर आग सुलगती रहती थी। आखिर में जेसीबी मंगवाकर उससे पत्तों को हटवाकर जब पानी डाला जाने लगा तो आग बुझने लगी।

दोपहर लगभग साढ़े 12 बजे किसी अन्य स्थान पर आग लग जाने के कारण फायर ब्रिगेड की एक गाड़ी वहां भेज दी गई, जबकि दूसरे से आग बुझाने का काम जारी रहा। इस दौरान कोतवाल अभय प्रताप मल्ल और वरिष्ठ उपनिरीक्षक आलोक दूबे सहित तमाम पुलिसकर्मी मौजूद रहे।

LIKE US:

fb
AD4-728X90.jpg-LAST

Final ReportApril 28, 2016
Image-for-representation-17.jpg

Image-for-representationबस्ती: भारतीय रेलवे की साइट आईआरटीसी को हैक कर टिकट बनने वाले को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार व्यक्ति का नाम हामिद असरफ है और वो इंटर का छात्र है।

मुबंई, लखनऊ, और बैंगलोर की सीबीआई टीम ने की जॉइंट कार्यवाही कर पुरानी बस्ती थाने की पुलिस की मदद से आरोपी को गिरफतार किया है।
जानकारी के अनुसार असरफ देश भर मे पांच हजार सेंटर बनाकर 30 सेकेंड मे बनाता था एक टिकट। पुलिस सूत्रों से यह भी जानकारी मिली है की गिरफ्तार व्यक्ति आईआरटीसी का डुप्लीकेट साफ्टवेयर की भी सप्लाई कर रहा था।

आरोपी के पास से 10 लैपटाप, 80 सिम, 16 बैंक अकाउंट और बैंक खाते मे 16 लाख बरामद किया गया है। आईआरटीसी 1 मिनट मे बनाती है टिकट लेकिन हामिद 30 सेकेंड मे ही खींच लेता था टिकट।

LIKE US:

fb
AD4-728X90.jpg-LAST

Final ReportApril 26, 2016
Image-for-representation-16.jpg

Image-for-representationगोंडा: उत्तर प्रदेश के गोंडा जिले में करनैलगंज कोतवाली क्षेत्र के गांव नकहरा के एक घर में लगी भीषण आग की चपेट में आकर सगे भाई और बहन जिंदा जल गए।

आग की चपेट में आकर आधा दर्जन फूस के घर और दो दुकानें भी जल गईं। रात में ही प्रधान की ओर से सूचना दिए जाने के बाद भी मौके पर दमकल और पुलिस नहीं पहुंची। घटना के घंटों बाद पुलिस सोमवार सुबह मौके पर पहुंची, जिससे ग्रमीणों में आक्रोश है।

जानकारी मिली है कि नकहरा गांव में किसान सुरेश के घर रविवार रात 2 बजकर 30 मिनट पर अज्ञात कारणों से आग लग गई। आग फैलते ही माता-पिता के साथ अन्य परिवारीजन बाहर आ गए, जबकि पांच वर्षीय रवि और चार वर्षीय मोहिनी घर के अंदर ही छूट गए। जब तक दोनों को बचाने का प्रयास किया जाता, तब तक आग भयावह रूप से घर को चपेट में ले चुकी थी।

आग की लपटों में धू-धू कर जलते घर में दोनों मासूमों की मौत हो गई। मां कलावती का रो-रो कर बुरा हाल है। आग फैलने से आसपास के छह घर और दो दुकानें भी जल गईं।

LIKE US:

fb
AD4-728X90.jpg-LAST

Final ReportApril 12, 2016
Image-for-representation-12.jpg

Image-for-representationगोंडा: जिले में विकासखंड धानेपुर के ग्राम पंचायत रुद्रगढ़ नौसी के इदयीपुरवा गांव में आजादी के 68 वर्षो बाद भी बिजली नहीं पहुंची है।

इस समस्या को लेकर लोगों में कई बार मेहनौन के विधायक को अवगत कराया, लेकिन लोगो को केवल आश्वासन ही मिलता रहा। यही नहीं, अभी हाल ही में लोगों ने सांसद से मुलाकात कर इस समस्या से निजात दिलाने की मांग की, लेकिन समस्या जस की तस बनी हुई है।

ग्रामीण फूलचंद्र दूबे, शनि दूबे व रामकिशोर दूबे ने बताया कि हर साल चुनाव में नेता बिजली लगवाने का वादा कर भूल जाते हैं। ग्रामीण अभी भी ढिबरी के सहारे रात बिताने को मजबूर हैं। बच्चों की पढ़ाई भी प्रभावति हो रही है।

fb
AD4-728X90.jpg-LAST

error: Content is protected !!