संतकबीर नगर Archives - Gorakhpur News in Hindi | Latest गोरखपुर न्यूज़ | Gorakhpur Final Report

GFR Desk9th December 2017
Screen-Shot-2017-12-09-at-11.03.05-AM.png

संतकबीर नगर: लग्न के मौसम में आजकल जहां हर तरफ शादियों में शहनाइयां बज रही हैं। तो वहीं पड़ोसी जनपद संतकबीरनगर में एक ऐसा भी गांव है जहां शादी के लग्न की नही, बल्कि हर साल फसल कटने का इंतज़ार होता है। और तब जाकर बजती हैं उस गांव में शादी की शहनाइयां।

संतकबीरनगर जिले के बखिरा क्षेत्र में आने वाले बड़गों गांव के दो ऐसे दलित पूर्वे हैं ।जिनकी आबादी लगभग एक हजार से ज़्यादा की है। जहां शादियों की लगन का नहीं बल्कि खेतों में फसल कटने का इंतजार होता है। उसके बाद ही कहीं जाकर उस गांव में किसी के घर शादी होती है।

दरअसल बड़गों गांव के दो दलित पुरवों में जाने के लिए एक पतली मेड़ के सिवा कोई भी और दूसरा रास्ता नहीं है। और जब शादियों की लग्न का मौसम होता है तो उस वक्त खेत में फसलों की बुआई हो जाती है । और ऐसे में किसी के खेत से कोई भी किसी को गुजरने नहीं देता है।

गर्मी के दिनों में फसल कटती है और जब खेत खाली होता है । उसके बाद ही इस गांव में शादियां होती है । क्योंकि खेत के रास्तों से ही बराती और उनकी गाड़ियां गांव में जाने के लिए गुजरती है।

आजादी के बाद से अब तक बहुत सी सरकारें आई। सभी ने कई सारे वादे किए लेकिन बड़गों गांव में जिस तरह रास्ता ना होने को लेकर लग्न में वहां शादियां नहीं होती। और उन्हें फसल कटने का इंतजार रहता है इसको देखकर यही लगता है की तमाम सरकारों के द्वारा किए गए विकास के दावे महज कोरा कागज़ ही हैं।

इतना ही नहीं रास्ता ना होने को लेकर इस गांव में कई ऐसे लड़के हैं जिनकी शादी तक कट चुकी है और वह कुंवारे ही बैठे हुए हैं। इनमें एक बूढ़ी मां मेवाती देवी को इस बात का मलाल है कि। उसके घर तक आने के लिए कोई रास्ता ना होने को लेकर उसके बेटे की तीन बार शादियां कट चुकी है। उसकी उम्र बढ़ते-बढ़ते 30 बरस की हो चुकी है।

उसकी बूढ़ी मां को आज भी इंतजार है कि उसके बेटे की शादी हो और दुल्हन के साथ बारात लेकर उसका बेटा घर आए। वही जब रास्ते को लेकर ग्राम प्रधान से बात की गई तो ग्राम प्रधान ने भी यह माना कि रास्ता ना होने को लेकर शादियों में दिक्कतें आती है और लोग फसल कटने तक का इंतज़ार करते हैं।

चकबंदी ना होने की वजह से सड़क के लिए कोई भी रास्ता नहीं है इसके लिए प्रशासन से गुहार लगाई गई है। सड़क के लिए जमीन कब मिलेगी ये नही मालूम।


GFR Desk26th November 2017
IMG-20171126-WA0164.jpg

नगर निकाय चुनाव

सन्तकबीर नगर: प्रदेश में पहले चरण में नगर निकाय चुनाव में कम हुए मतदान प्रतिशत को बढाने के लिए राज्य निर्वाचन आयोग व जिला प्रशासन की तरफ से लगातार कवायद जारी है।

लोग अपने घरों से निकल कर मतदान अक्रें और औरों को भी प्रेरित करें इस उद्देश्य से हर जिले में आदर्श बूथ बनाए जाते हैं। आज दुसरे चरण के मतदान में सन्तकबीर नगर में मतदान का प्रतिशत बढ़ाने के लिए जिलाधिकारी द्वारा मतदाताओं को रिझाने का प्रयास किया गया है।

मतदान केंद्रों पर मतदाता के लिए बैठने की व्यवस्था, एनसीसी कैडेट लगाए गये है बुजुर्ग मतदाताओ की सहायता के लिए, साथ ही साथ युवाओ को मतदान स्थल की तरफ आकर्षित करने के लिए सेल्फी पॉइन्ट भी बनाया गया।

जिससे मतदान करने के बाद युवा इस सेल्फी स्थल पर पहुचकर अपनी सेल्फी ने और सोशल मिडिया पर प्रसारित करे जिससे की अन्य युवा भी प्रेरित हो और मतदान करे जिला प्रशासन की इस अनोठी पहल को युवा खूब सराह रहे है और युवा ही नहीं लोग अपने परिवार, दोस्त और रिश्तेदारों के साथ सेल्फी ले रहे है।

सन्तकबीर नगर जिला प्रशासन द्वारा आदर्श मतदान केन्द्र के रूप में हीरालाल रामनिवास इन्टर कालेज को बनाया गया है, इसमें बाकायदा गेट पर एक फ्लैक्स लगाया गया है जिसमे लिखा है की आप सभी सम्मानित मतदाताओ का हार्दिक स्वागत एव अभिनन्दन है।

गेट से ही लाल कारपेट बिछा हुआ है और स्कुल के एनसीसी के कैडेट्स बुजुर्ग मतदाताओ व लोगो की मदद के लिए लगे हुए है, कालेज को झंडियो से सजाया गया है, बाकायदा गद्दे वाली कुर्सियों को भी लगाया गया है जिससे की मतदाताओ को बैठने में आसानी हो, तिरंगे रंग के गुब्बारों को भी लगाया गया है और शुद्ध पानी पिने की व्यवस्था भी की गई है।

ऐसे में जिला प्रशासन की ये अनोठी पहल लोगो को काफी आकर्षित कर रही है, अभी तक सन्तकबीर नगर में 2 बजे तक 33 फीसदी मतदान हुआ है। अब देखना ये होगा की मुख्यमंत्री के जिले में कम हुए मतदान ने प्रत्यासियो, मतदाताओ, राजनितिक दलों व जिला प्रशासन को सकते में डाल दिया है, ऐसे में यह तरिका कितना कारगर साबित होगा ये देखने वाली बात होगी और कही ना कही यह तरिका एक नजीर पेश करेगा।

 


GFR Desk4th October 2017
IMG-20171004-WA0014-1024x768.jpg

संतकबीर नगर (उपेंन्द्र द्विवेदी): खलीलाबाद सांसद शरद त्रिपाठी ने कहा है कि भारत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में विकास के नए आयाम को छू रहा है।

धनघटा तहसील पर संकल्प से सिद्धि एवं ऋण मोचन प्रमाण पत्र वितरण कार्यक्रम में किसानों को संबोधित करते हुए बतौर मुख्य अतिथि सांसद ने कहा कि केंद्र सरकार की सभी उनकी योजनाएं आम जान खास कर गरीब लोगों के लिए हैं। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी का मुख्य उद्देश्य ग्रामीण अंचल का विकास तथा बुनियादी सेवाओं को बेहतर बनाना है।

तहसील पर आज के कार्यक्रम की शुरूआत अतिथियों के स्वागत से हुई। कृषि विज्ञान केन्द्र बगही के द्वारा संकल्प से सिद्धि योजना का आयोजन किया गया। जिसकेे माध्यम से किसानो को प्रधानमंत्री के संकल्प 2022 तक किसानो की आय दोगुना करने के सूत्र बताए गए।

कार्यक्रम मे मुख्य रूप से धनघटा विधायक श्रीराम चौहान, मेहदावल विधायक राकेश सिंह, जिला पंचायत अध्यक्ष प्रतिनिधि अरूण कुमार, जिला पंचायत सदस्य संजय सिह;संतोष चौहान, बब्बन शर्मा, सांसद प्रतिनिधि महेन्द्र दूबे, हेमन्त चतुर्वेदी, महेन्द्र राय, लालशरण सिंह, अरूणेश द्विवेदी, अनिरूध्द शुक्ल, सन्त राम गुप्त, पीयूष सिंह, राजीव गुप्ता जिला मन्त्री भाजयुमो, व तमाम नेता अधिकारी लाभार्थी किसान मौजूद रहे।


GFR Desk22nd August 2017
Panchayat-chunav.jpg

सन्त कबीर नगर: जिला पंचायत अध्यक्ष के लिए हुए उपचुनाव में भाजपा समर्थित नीना देवी ने तीन वोटों से जीत दर्ज की है। कुल 32 मतों में से 31 मत पड़े जिसमे से 17 वोट नीना देवी को मिले। वहीँ उनके प्रतिद्वंद्वी प्रमोद यादव को 14 मत मिले।

जानकारी के लिए बताते चलें कि अविश्वास मत से हटाए गए संतोष यादव ने मतदान में भाग नहीं लिया। इससे पूर्व सुबह 11 बजे गहमा गहमी के बीच मतदान शुरू हुआ। कलेक्ट्रेट पर भारी सुरक्षा रही।

बाहर सैकड़ों समर्थकों की भीड़ जमा रही। अंदर सिर्फ जिला पंचायत सदस्यों को ही प्रवेश दिया गया।


GFR Desk31st July 2017
Image-for-representation-1-5.jpg

संतकबीर नगर (संदीप त्रिपाठी): एक तरफ जहां प्रशासन द्वारा कच्ची को बंद कराने के लिए विशेष अभियान चलाकर कच्ची कारोबार को नष्ट करने का दावा करती है वहीँ जनपद के बखिरा थानाअंतर्गत जंगल बेलहर में कच्ची शराब का धन्धा जोरों पर है.

ग्रामीणों का कहना है कि यहा पर पुलिस की संरक्षण में कच्ची का धंधा फल-फूल रहा है जिससे इस गांव के लोग काफी परेशान हैं। उनका कहना है की इस धन्धे से यहां के नौनिहालों का भविष्य अंधकारमय होता जा रहा है।

ग्रामीणों का कहना था शाम ढलते ही शराबियों का का मजमा लग जाता है जो देर रात तक रहता है। ग्रामीणों द्वारा विरोध करने पर कच्ची कारोबारियों द्वारा मारपीट भी कर चुकें हैं।

इसको लेकर श्री राम अर्जुन, राम दरश, प्रेमचंद, रूपचंद, अखिलेश, शारदा, आरती, ज्ञानमती आदि ग्रामीणों द्वारा बखिरा थाने पर इसी महीने की 12 जुलाई को इसकी प्रथम सूचना रिपोर्ट भी दर्ज कराई गई लेकिन उसके बाद भी कच्ची कारोबारियों के ऊपर कारवाई क्यों नहीं होती यह एक बड़ा सवाल है।

ऐसा प्रतीत होता है कि कहीं ना कहीं कच्ची के धंधे में स्थानीय पुलिस लिप्त है। जिससे कच्ची कारोबारियों के हौसले बुलंद होते जा रहे हैं वहीं ग्रामीणों में काफी रोष व्याप्त है।


GFR Desk25th July 2017
Image-for-representation-28.jpg

संतकबीर नगर: जिला मुख्यालय स्थित ट्रेजरी कार्यालय में तैनात बाबू बृजेश चन्द्र आर्य को मंगलवार को घूस लेते एंटी करप्शन गोरखपुर की टीम ने रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया। लिपिक बृजेश ने वृद्ध महिला से पेंशन पास कराने के नाम पर दस हजार रूपये की मांग की थी। ढाई हजार रुपए देने के बाद बाबू ने पांच हजार रूपये की और मांग की।

पीड़ित ने इसकी शिकायत जब एण्टी करप्शन गोरखपुर में किया तो ट्रैप टीम ने मंगलवार को कार्यालय के सामने ही पीड़िता के हाथ से रिश्वत का पैसा लेते बृजेश को रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया।

जानकारी के अनुसार जिले के धनघटा थाना क्षेत्र के रामपुर छितौनी गांव निवासी अर्जुन प्रसाद प्रजापति के बाबा पड़ोही महाराष्ट्र दुग्ध विभाग से सेवानिवृत्त थे। उनकी नौ माह पूर्व मौत हो गई।उनकी मृत्य के बाद विभागीय पेंशन उनकी पत्नी भानमती (85) को मिलना था। जिसके लिए अर्जुन प्रसाद अपनी दादी को लेकर लगातार ट्रेजरी आफिस का चक्कर लगा रहे थे।

ट्रेजरी आफिस में तैनात सहायक लेखाकार वृजेश चंद्र आर्य के द्वारा गलत नामिनी बताकर एजी आफिस इलाहाबाद से उसे सही कराने के नाम पर घूस की मांगा गया था। पीड़िता भानमती के अनुसार वह पिछले नौ महिने से भटक रही है। काफी याचना के बाद भी बाबू साढ़े सात हजार रुपया लेने पर अडिग रहा।किसी तरह से जुगाड़ करकर भानमती ने उसे दो किश्तों में ढाई हजार दे दिए बावजूद इसके उक्त लिपिक बाकी के पांच हजार और देने को लेकर उन्हें दौड़ाता रहा।

थक हार कर पीड़िता ने अपने गांव के भाजपा नेता अशोक यादव से अपनी पीड़ा बताई तो उन्होंने इसकी शिकायत एंटीकरप्शन से किया। शिकायत सुनने के बाद टीम ने जांच के बाद मंगलवार को एंटी करप्शन की टीम इंस्पेक्टर बब्बन यादव की अगुवाई में जिले में पहुंची। टीम ने डीएम की अनुपस्थित में एडीएम से मिलकर दो कर्मचारियों को साक्ष्य के लिए डिमांड किया।

उसके बाद सभी लोगों ने मिलकर जाल बिछाया। शिकायतकर्ता ने बाबू को फोन किया। जिस पर वह घूस का रूपया लेने के लिए ट्रेजरी आफिस से निकलकर चाय की दुकान पर पहुंच गया।जैसे ही शिकायतकर्ता ने घूस का रूपया बाबू को पकड़ाया वैसे ही पहले से ही घात लगाकर बैठी एंटी करप्शन की टीम ने उसे दबोच लिया। उसके बाद उसे कोतवाली लाकर कानूनी प्रक्रिया पूरी करने में जुट गई।

एंटी करप्सन के इंस्पेक्टर बब्बन यादव ने बताया कि शिकायतकर्ता की शिकायत के बाद मामले की जांच कराने पर मामला सही पाया गया। जिसके बाद आरोपी बाबू वृजेश चंद्र आर्य को घूस के रूपए के साथ रंगे हाथ पकड़कर कानूनी कार्रवाई की जा रही है। कानूनी प्रक्रिया पूरी होने के बाद बाबू को जेल भेज दिया जायेगा।


GFR Desk24th June 2017
Member-in-Santkabir-Nagar.jpg

संतकबीर नगर (संदीप त्रिपाठी): आखिरकार वही हुआ जिसका डर था। समाजवादी पार्टी से एक और सीट छिन ही गई। सत्ता बदलते ही सपा के लिये मुसीबत लगातार बढ़ती ही जा रही है। यूपी विधानसभा चुनावों को जीतने के बाद अब सत्ताधारी दलों की नजर सूबे की जिला पंचायत सीटों पर है। इसके लिये कई जिलो में जोड़-तोड़ और कुर्सी छिनने के लिये कवायद भी शुरू हो चुकी है। संत कबीर नगर में तो इसका परिणाम भी मिल गया। समाजवादी पार्टी के कब्जे में रही यह जिला पंचायत अध्यक्ष की सीट अब सपा के हाथों से निकल गई।

अध्यक्ष संतोष यादव की कुर्सी छिन गई। उनके खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पारित हो गया। उनकी कुर्सी को लेकर काफी दिनों से कवायद चल रही थी। इस कवायद के तहत आखिरकार संतोष यादव की कर्सी छिन ही गई। जिला पंचायत अध्यक्ष सतोष कुमार यादव के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया गया। कुल 32 सदस्यों में से 27 ने मत विभाजन में हिस्सा लिया।

अविश्वास के पक्ष में 25 मत वैध और दो मत अवैध घोषित हुए। बैठक से अध्यक्ष अनुपस्थित रहे।

फाइनल रिपोर्ट से बातचीत में जिला पंचायत सदस्य संतोष चौहान ने कहा की कुशासन के खिलाफ मतदान हुआ है और वो खुद अगले उम्मीदवार के रूप में पार्टी से नामांकन करेंगे।


GFR Desk11th March 2017
Sant-kabir-Nagar.jpg

संतकबीर नगर: जिले की खलीलाबाद सीट से एक कड़े मुकाबले में भाजपा के दिग्विजय नारायण चौबे 37979 वोट पाकर इस समय आगे चल रहें हैं। बसपा के मशहूर आलम चौधरी 36383 वोट पाकर दूसरे नंबर पर चल रहें हैं।

DR. MOHD. AYUB Peace Party 32241
JAVED AHMED Samajwadi Party 15955
GANGA SINGH Rashtriya Lok Dal 4242
TAFSIRULLAH All India Majlis-E-Ittehadul Muslimeen 2013
VIJAY KUMAR SHUKLA ADVOCATE Communist Party of India 1651
MANBHAWATI Independent 1018
PREM PRAKASH TRIPATHI Independent 971
DHANUSHDHARI Nationalist Congress Party 948
DHARMENDRA KUMAR Independent 564
SUNITA YADAV Independent 536
MOHAMMAD ALI Parcham Party of India 473
ALAUDDIN Samaj Seva Party 448
RAM AJOR Independent 439
PRADEEP GUPTA Independent 431
SATYA NARAYAN Independent 410
RAMSWARATH Bharatiya Subhash Sena 408
SHAILENDRA KUMAR Bahujan Mukti Party 323
BAIJNATH Independent 323
BADDHNATH TIWARI Independent 317
AMRATA SINGH Independent 301
None of the Above None of the Above 535
Last Updated at 15:32 On 11/03/2017


GFR Desk6th February 2017
Khalilabad.jpg

सन्तकबीर नगर: बस्ती मण्डल के सन्तकबीरनगर जनपद की खलीलाबाद विधान सभा सीट पर अलग अलग पार्टियों के प्रत्याशियों को पिछले तीन चुनावों में जनता ने अलग जनादेश दिया।

16 वीं विधानसभा चुनाव 2012 के चुनावों पर नजर डालें। साल 2012 के आंकड़ो के अनुसार इस विधानसभा क्षेत्र में कुल मतदाताओं की संख्या 3 लाख 81 हजार 587 है। जिसमे पुरुषों की संख्या 2 लाख 9 हजार 277 और महिलाओं की संख्या 1 लाख 72 हजार 310 है। इस सीट पर पिछले तीन चुनावों में हर बार अलग अलग पार्टी ने कामयाबी का सेहरा पहना है।

2012 में यहां पीस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ अयूब ने बतौर प्रत्याशी जीत हासिल किया था। वहीं 2007 में बहुजन समाज पार्टी के भगवान दास और 2002 में बीजेपी के द्वारिका प्रसाद ने अपना परचम लहराया था। देखना दिलचस्प होगा कि इस चुनाव में जनता किस के सर पर जीत का सेहरा बांधेगी।

16 वीं विधानसभा 2012 के नतीजे

16 वीं विधानसभा चुनाव में पीस पार्टी के मोहम्मद अयूब ने बहुजन समाज पार्टी के मशहूर आलम को दूसरे तथा बीजेपी के दिग्विजय नारायण को तीसरे स्थान और समाजवादी पार्टी के अब्दुल कलाम को चौथे स्थान पर ला खड़ा किया था।

जबकि 15 वीं विधानसभा चुनाव में बसपा के भगवानदास ने समाजवादी पार्टी के अलगू प्रसाद चौहान को दूसरे, बीजेपी के द्वारिका प्रसाद को तीसरे जबकि निर्दलीय रहे रामलखन को चौथे स्थान पर पहुंचाया था।

इसके पूर्व 14 वीं विधानसभा चुनाव में 2002 में बीजेपी के द्वारिका प्रसाद ने समाजवादी पार्टी के रामलखन को दूसरे, बहुजन समाज पार्टी के रामसूरत को तीसरे और कांग्रेस के रमेश को चौथे स्थान पर पहुंचाया था।

अब जबकि सभी दलों के प्रत्याशी मैदान में है और विरोधी भी तीर-कमान के साथ हमलावर है, तो वहीं पार्टियों में टिकट न मिलने से बगावती अंदाज में मैदान में उतरे लोग भी जबरदस्त टक्कर देने के मूड में है। जहां बीजेपी से बगावत करके गंगा सिंह सैंथवार तथा पीस पार्टी को टक्कर देने को एआईएमआईएम भी मैदान में हैं।

अभी जहां बस्ती में डॉ अयूब पर आरोप लगा है कि अपने बेटे के नाम खुले अस्पताल में यहां के लोगों का मुफ्त इलाज चल रहा है।इससे अब दिलचस्प है कि अबकी बार खलीलाबाद की जनता किसे अपना जनादेश देगी, ये देखने वाली बात होगी।


GFR Desk9th January 2017
Pappu-Nishad.jpg

संतकबीर नगर: प्रदेश की समाजवादी पार्टी सरकार में दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री लक्ष्मी कांत उर्फ़ पप्पू निषाद ने आज एक बयान देते हुए कहा की नेता जी (मुलायम सिंह यादव ) की चाहत थी कि उनका लड़का आगे बढ़े, कोई भाई को आगे नही बढ़ाना चाहता।

अखिलेश यादव के सुर में सुर मिलाते हुए कुछ लोगो पर नेता जी को गुमराह करने का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जी ने जो भी कदम उठाया है वो कहीं से भी गलत नही है। नेता जी को गलत कहने वालों को मुख्यमंत्री छोड़ते नही है। नेता जी हम लोगो के संरक्षक है, नेता जी हमारे द्रोण हम सब एकलव्य हैं। साइकिल निशान मुख्यमंत्री को ही मिलेगा, वो संवैधानिक तरीके से हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष है।

पूर्व में खाद्य एवं रसद राज्यमंत्री रहे है लक्ष्मीकांत उर्फ़ पप्पू निषाद मेंहदावल विधान सभा क्षेत्र से निवर्तमान सपा विधायक के अलावा निवर्तमान में उत्तर प्रदेश सेतु निर्माण निगम के चेयरमैन है।