April 19, 2018
Home Posts tagged Firaq Gorakhpuri 121 birthday
फाइनल रिपोर्ट स्पेशल
गोरखपुर: “आए थे हँसते खेलते मयख़ाने में ‘फ़िराक़’, जब पी चुके शराब तो संजीदा हो गए” और “आने वाली नस्लें तुम पर फ़ख़्र करेंगी हम-असरो, जब भी उन को ध्यान आएगा तुम ने ‘फ़िराक़’ को देखा है।” नज्म व गजल को एक नया आयाम देने वाले रघुपति सहाय (फिराक गोरखपुरी) के मुरीद केवल देश में […]Continue Reading